UP News : विकास प्राधिकरण द्वारा नोटिस भेजे जाने पर व्यापारियों में आक्रोश

बांदा (हि.स.)। बांदा विकास प्राधिकरण द्वारा शहर के आवासों व बाजारों में सैकड़ों की संख्या में निर्माण को लेकर नोटिस जारी किए जाने पर आक्रोश व्यक्त करते हुए इस संबंध में विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया है।
व्यापारियों ने दिए गए ज्ञापन में बताया कि बांदा विकास प्राधिकरण का गठन वर्ष 1984 में हुआ था। बांदा शहर बहुत पुराना है यहां का बाजार आवास मिश्रित आबादी का क्षेत्र है। सड़के गलियां भी पुरानी है जिस कारण पुराने निर्माणों में जगह कम होने के कारण वहां प्राधिकरण के नियमों के अनुसार निर्माण में व्यावहारिक कठिनाइयां स्वाभाविक है। 
वही आवास विकास, इंदिरा नगर, तुलसी नगर दीनदयाल पुरम, आवास कालोनियों में बांदा विकास प्राधिकरण के मानकों के अनुरूप ही निर्माण कार्य हो रहे, लेकिन बांदा विकास प्राधिकरण शहर के आवासों, बाजारों में सैकड़ों की संख्या में नोटिस जारी की गई है जिनमें नक्शों के आधार पर कुछ न कुछ खामियां गिनाई गई है। दशकों वर्ष पूर्व निर्मित भवनों पर अब कार्रवाई करना या कराना व्यवहारिक नहीं है।प्राधिकरण द्वारा विकास शुल्क नक्शा पास करते समय जमा कराया जाता है। परंतु उस पैसे का वहां नाली सड़क, जल निकासी, पार्क आदि का कोई कार्य नहीं कराया जाता है।
व्यापारियों ने इस संबंध में मांग की है कि पुराने शहर के मिश्रित आबादी क्षेत्र की नोटिश चालानू आदेशों की समीक्षा के लिए कैंप लगाया जाए और विकास प्राधिकरण द्वारा जिन क्षेत्रों के लिए विकास शुल्क जमा कराया जाए, उस क्षेत्र में खर्च करा कर नाली सड़क कार्य कराया जाए पुराने निर्माण में कार्रवाई न कराकर नए निर्मित क्षेत्रों में व्यवसायिक अथवा आवासीय क्षेत्रों का निर्धारण करने के उपरांत ही भविष्य में कार्रवाई की जाए। साथ ही बांदा विकास प्राधिकरण के द्वारा जन जागरण के द्वारा कार्यक्रम के नियमों की जानकारी जन सामान्य को दिलाई जाए, जिससे अब जो निर्माण हो उसमें निर्माण के समय भूल सुधार अथवा दंड की कार्रवाई की जाए। 

ज्ञापन देने वालों में व्यापार मंडल के प्रदेश संयुक्त महामंत्री चारू चंद्र खरे, मंडल अध्यक्ष विष्णु कुमार गुप्त, प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष संतोष कुमार गुप्ता, जिलाध्यक्ष सत्य प्रकाश सराफ, जिला उपाध्यक्ष शिवपूजन, जिला महामंत्री कमलेश कुमार गुप्त, संतोष अनशन कारी, ज्वाला प्रसाद गुप्त, प्रेम गुप्ता, सौरभ कुमार, कृष्ण प्रकाश, राजकुमार, राकेश कुमार साहू आदि दर्जनों व्यापारी मौजूद रहे।

Submitted By: Edited By: Mohit Verma

error: Content is protected !!