UP News : मिशन शक्ति के तहत 1,21,509 महिलाओं को पहुंचाई गई मदद

लखनऊ (हि.स.)। राज्य सरकार द्वारा नारी सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन के लिए चलाये जा रहे मिशन शक्ति के तहत 17 अक्टूबर 2020 से 28 नवम्बर 2021 तक 1,21,509 महिलाओं को सहायता पहुंचाई गईं। पूरे साल में यूपी-112 पुलिस ने घरेलू हिंसा में 3,27,833 पीड़ित महिलाओं तक मदद पहुंचाने का कार्य किया है। महिलाओं में सुरक्षा भाव उत्पन्न करने के लिए पूरे प्रदेश में 300 महिला पीआरवी यूपी-112 की ओर से संचालित की जा रही है। 

महिलाओं को सुरक्षित माहौल देना उद्देश्य 
मिशन शक्ति के तहत विभिन्न योजनाओं के माध्यम से प्रदेश भर की महिलाओं को सुरक्षित माहौल प्रदान करना यूपी-112 का मुख्य उद्देश्य है। रात में अकेली महिला को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए महिला स्कार्ट की सुविधा शुरू की गई। गांव हो या शहर कोई भी महिला रात को 10 बजे से सुबह 06 बजे तक इस सुविधा का लाभ ले सकती है। एक साल में 518 महिलाओं ने इस सुविधा का लाभ उठाया है। 
बुज़ुर्गों में सामाजिक सुरक्षा का भाव उत्पन्न करने के उद्देश्य से ‘सवेरा’ योजना के तहत 1,70,296 महिलाओं का पंजीकरण किया गया है। महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए यूपी-112 द्वारा जिलों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। प्रदेश भर में यूपी-112 की 4500 पीआरवी रात-दिन प्रदेश में आम जनमानस की सुरक्षा के लिए तत्पर हैं।    

1090 व 181 के साथ एकीकरण
मिशन शक्ति का उद्देश्य महिलाओं को सुरक्षित माहौल देने के साथ-साथ उनको स्वावलंबी बनाना भी है। प्रदेश के किसी भी कोने से अगर कोई महिला पुलिस की मदद लेने के लिए 1090 पर कॉल करती है तो उसकी कॉल यूपी-112 पर स्थानांतरित कर दी जाती है। इसी तरह स्वरोजगार के लिए किसी तरह की मदद चाहने वाली महिलाओं की कॉल को यूपी-112 से 181 स्थानांतरित की जाती है। विभिन्न सरकारी हेल्प लाइनों से एकीकरण के बाद यूपी-112 के कार्य का दायरा भी बढ़ गया है। 
 

error: Content is protected !!