UP News : कचरे के ढेर में पड़े डिब्बे ने खोल दिया वृद्धा की हत्या का राज

झांसी (हि.स.)। प्रेमनगर थाना क्षेत्र में बुजुर्ग महिला की हत्या व लूटपाट के मामले में हत्यारोपित कथित प्रेमी प्रेमिका तक पहुंचने में एक आनलाइन कम्पनी के डिब्बे ने अहम भूमिका निभाई। जिस डिब्बे को हत्यारोपित व उसकी प्रेमिका बेकार समझकर कचरे में डाल गए थे,उसी डिब्बे ने उनका पूरा राज उगलकर रख दिया और गुरुवार की सुबह पुलिस ने मुठभेड़ में घायल हत्यारोपित किराएदार को गिरफ्तार करते हुए उसकी प्रेमिका भी दबोच लिया। उनके पास से लूटा गया सोना, चांदी व नगदी भी बरामद कर ली।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीणा ने बताया कि 18 जुलाई को रेलगंज प्रेमनगर में हुई बुजुर्ग महिला दुर्गा देवी की हत्या के मामले में उसकी पुत्री द्रौपदी ने मुकद्मा संदेह के आधार पर दर्ज कराया था। इसके बाद से पुलिस ने किरायेदार दम्पत्ति की तलाश शुरु कर दी थी। मकान की तलाशी के दौरान पुलिस को डस्टबिन में एक ऑनलाइन कम्पनी से शॉपिंग का खाली डिब्बा मिला। कम्पनी से संपर्क के बाद उक्त सामान मंगाने वाले विकास नामक व्यक्ति तक पुलिस जा पहुंची। विकास के बताए अनुसार पुलिस को यह जानकारी हुई कि उक्त किराएदार का नाम सुनील शर्मा है। सुनील की तलाश में जुटी पुलिस टीम ने सुनील को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पैर में गोली लग जाने के कारण वह घायल हो गया था। उसके बाद दीपेंद्र कौर पत्नी हरमीत सिंह निवासी हिम्मतसिंह नगर लुधियाना पंजाब को भी गिरफ्तार किया गया। जो कथित तौर पर सुनील की प्रेमिका बताई जा रही है। पुलिस के अनुसार सुनील व दीपेंद्र प्रेमी प्रेमिका हैं।

ऐसे पहुंचे दीपेन्द्र और सुनील झांसी

बताया गया कि मृतका दुर्गा देवी बीमार रहती थीं। उन्होंने एक महिला को झाड़फूंक के लिए बुलाया था। उक्त महिला की मुलाकात रास्ते मे दीपेंद्र से हो गयी तो वह भी साथ आ गयी। झाड़फूंक के बाद उक्त महिला तो चली गयी लेकिन दीपेंद्र वहीं रुक गयी। बाद में उसने सुनील को भी बुला लिया। दुर्गा देवी की संपन्नता देख दोनों ने लूट कर हत्या का मन बनाया और घटना को अंजाम दिया।

45 की दीपेन्दर व 28 का सुनील

पुलिस कप्तान ने बताया कि दीपेन्द्र कौर की उम्र करीब 45 वर्ष है। यही नहीं उसके दो बड़े बड़े बेटे भी हैं। उनमें से एक तो कनाडा में रहता है। जबकि सुनील की उम्र महज 28 वर्ष है। किसी तरह वशीकरण के चलते दोनों का मिलान दिल्ली में हुआ था। दोनों को पुलिस ने दीपेन्द्र के पति की शिकायत पर जेल भी भेज दिया था। बाद में सुनील अपने घर चला गया जबकि दीपेन्द्र अपने घर। उन्होंने बताया कि इससे पूर्व दोनों के कोई आपराधिक इतिहास भी नहीं मिले हैं।

05 किग्रा चांदी व दो सौ ग्राम सोने के जेवरात बरामद

पुलिस कप्तान ने बताया कि दोनों के पास से 05 किलो0 से ज्यादा चांदी व 204 ग्राम सोने के आभूषण बरामद हुए हैं।

error: Content is protected !!