UP : अपने इस बयान पर SP को मांगनी पड़ी माफी!

कहा था-जिसकी बेटी भागती है, पहले उसे जेल भेजने का मन कहता है

प्रादेशिक डेस्क

रामपुर। लोकसभा के उपचुनाव के बाद पुलिस लाइन में आयोजित सद्भावना गोष्ठी में आईपीएस के एक बयान ने बवाल खड़ा कर दिया। एसपी अशोक कुमार शुक्ला ने कहा कि बेटी भागती है तो मैं माता-पिता को जेल भेज देना चाहता हूं। उनके इस भाषण के वीडियो पर सपा ने भी हमला बोला और अपने ट्विट एकाउंट से ट्विट किया। हालांकि वीडियो वायरल होने के बाद एसपी ने खंडन करते हुए माफी भी मांगी है। दरअसल उपचुनाव खत्म होने के बाद रामपुर की पुलिस लाइन में एक सद्भावना गोष्ठी आयोजित की गई थी। जिसमें एसपी अशोक कुमार शुक्ला एक-दो बच्चे ही पैदा करने की नसीहत दे रहे थे। उन्होंने कहा, कोई इसे सियासी नजरिए से देख रहा है तो कोई उनके इस बयान में मजहबी टिप्पणी के रंग तलाश रहा है। हालांकि एसपी का कहना है कि उन्होने जो कहा वह समाज के भाई-चारे के लिए साफ मंशा से कहा। एसपी अशोक कुमार शुक्ला ने कानून-व्यवस्था, सद्भाव और तालीम की बात करते-करते यह भी कह डाला कि अगर किसी की बेटी भागती है तो मन करता है पहले मां-बाप को जेल भेज दूं। ऐेसे अभिभावक आखिर किसके भरोसे बच्चे छोड़ देते हैं। इसी बात के क्रम में उन्होंने कहा कि अधिक बच्चे होते हैं तो उनकी अच्छे से परवरिश नहीं हो पाती। उन्हें अच्छी तालीम नहीं मिल पाती। इसलिए एक-दो बच्चे ही काफी हैं। इसमें अगर किसी का धर्म आड़े आता है तो उन्हें बच्चों के लिए सभी जरूरी इंतजाम अच्छे से करने चाहिए। ऐसा न होने पर ही बच्चे पंचर बनाते फिरते हैं, कट्टा लेकर घूमते हैं, इससे पुलिस का काम बढ़ जाता है। एसपी के इस बयान पर कुछ लोगों ने तालियां बजाईं तो कुछ औचक से एक दूसरे का मुंह ताकते रह गए।

यह भी पढें :  निराली है यातायात पुलिस की माया!

आवश्यकता है संवाददाताओं की

तेजी से उभरते न्यूज पोर्टल www.hindustandailynews.com को गोण्डा जिले के सभी विकास खण्डों व समाचार की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थानों तथा देवीपाटन, अयोध्या, बस्ती तथा लखनऊ मण्डलों के अन्तर्गत आने वाले जनपद मुख्यालयों पर युवा व उत्साही संवाददाताओं की आवश्यकता है। मोबाइल अथवा कम्प्यूटर पर हिन्दी टाइपिंग का ज्ञान होना आवश्यक है। इच्छुक युवक युवतियां अपना बायोडाटा निम्न पते पर भेजें : jsdwivedi68@gmail.com
जानकी शरण द्विवेदी
सम्पादक
मोबाइल – 9452137310

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!