Gonda News:DM के निर्देश पर तहसीलदार ने शुरू किया ‘कोर्ट आपके द्वार’

धानेपुर में लगाई गई अदालत में सुने 49 मुकदमे, जल्द सभी में आएगा फैसला

जानकी शरण द्विवेदी

गोंडा। जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार की मंशा के अनुरूप राजस्व विभाग के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर अदालत लगाकर सुनवाई करने तथा ‘न्याय चला निर्धन से मिलने’ की संकल्पना को साकार करना शुरू कर दिया है। सदर तहसीलदार राजीव मोहन सक्सेना ने धानेपुर क्षेत्र के एक गांव में पहुंचकर बाकायदा अदालत लगाई और एक साथ 49 मुकदमों की सुनवाई पूरी की। संभावना है एक-दो दिन के अंदर सभी मामलों में अदालत अपना फैसला सुना देगी।
चुनावी प्रक्र्रिया से निवृत्त होने के बाद जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार का पूरा ध्यान जिले के विकास के चक्र को तेजी से आगे ले जाने का है। तत्कालीन मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी द्वारा शुरू किए गए ‘ट्रांसफार्मिंग गोंडा’ की अवधारणा पर भी पूरी तरह फोकस कर रहे हैं। उनकी कोशिश है कि विकास के मानकों पर काफी पिछड़े जिलों में शुमार गोंडा की स्थिति में कुछ बदलाव हो। लोगों को त्वरित न्याय मिले और उनकी जायज समस्याओं का जल्द समाधान हो। पिछले दिनों राजस्व विभाग की समीक्षा के दौरान अदालतों में लम्बित मुकदमों के त्वरित निस्तारण पर जोर देते हुए उन्होंने कहा था कि पीठासीन अधिकारी क्षेत्र विशेष के राजस्व मुकदमों को एक साथ सूचीबद्ध करके मौके पर जाने की कोशिश करें और वहीं अदालत लगाकर स्थल निरीक्षण करके बाकायदा सुनवाई करते हुए मुकदमों को निस्तारित करें। उन्होंने कहा था कि इससे न विहित प्रक्रिया पूरी न होने के कारण लम्बे समय से चल रहे मुकदमों की संख्या में कमी आएगी, बल्कि लोगों को न्याय भी सुलभ होगा।

यह भी पढें :  गैंगेस्टर एक्ट के तहत करीब दो करोड़ की सम्पत्ति कुर्क

डीएम के इसी निर्देश के क्रम में सदर तहसीलदार राजीव मोहन सक्सेना ने धानेपुर कानूनगो क्षेत्र के अन्तर्गत मुजेहना विकास खण्ड पहुंचकर स्थलीय निरीक्षण किया तथा बाकायदा अदालत लगाकर मुकदमों की सुनवाई किया। उन्होंने बताया कि तहसीलदार (न्यायिक) सदर की अदालत पर धारा 155 सी/उप्र राजस्व संहिता 2006 की धारा 67 के तहत लम्बित क्षेत्र के 49 वादों को सूचीबद्ध करवाते हुए राजस्व निरीक्षक व लेखपालों समेत सम्बंधित पार्टी को पूर्व में नोटिस देकर सुनवाई किया। सुनवाई के समय सभी मुकदमों के वादी प्रतिवादी उपस्थित आए। कुछ प्रतिवादियों ने कागजात प्रस्तुत करने के लिए मोहलत मांगी। उन्हें सोमवार तक कागज दाखिल करने का अंतिम अवसर दिया गया है। इसके बाद सभी वादों में गुण दोष के आधार पर आदेश जारी कर दिया जाएगा। तहसीलदार सदर ने कहा कि जिलाधिकारी की मंशा के अनुरूप उनके द्वारा शुरू किया गया ‘कोर्ट आपके द्वार’ अभियान आगे भी जारी रहेगा। इसके साथ ही सभी नायब तहसीलदारों को भी उन्होंने अविवादित मामलों का यथाशीघ्र निस्तारण का निर्देश दिया है।

यह भी पढें : आपको वज्रपात की पूर्व सूचना चाहिए तो मोबाइल में डाउनलोड करें यह ऐप

महत्वपूर्ण सूचना

जिले के युवा जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार और नवागत सीडीओ गौरव कुमार की अगुवाई में जिले में बड़े बदलाव की कोशिशें शुरू कर दी गई हैं। यह दोनों युवा अधिकारी Transforming Gonda के नारे के साथ जिले के चाल, चरित्र और चेहरे में आमूल चूल परिवर्तन लाना चाहते हैं। जिले के विकास के लिए शुरू की गई अनेक महत्वपूर्ण योजनाएं इसी दिशा में किए जा रहे कोशिशों का परिणाम है। आगामी 21 जून को जब पूरा विश्व योग दिवस मना रहा होगा, तब योग के प्रणेता महर्षि पतंजलि की जन्म स्थली पर इन दोनों अधिकारियों ने कुछ विशेष करने का निर्णय लिया है। लक्ष्य है कि जिले की करीब एक तिहाई आबादी को उस दिन योग से जोड़ा जाय। इस क्रम में अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस को सफल बनाने के लिए जनपद के ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ने के लिए YOGA DAY GONDA नाम से एक फेसबुक पेज बनाया गया है। जिला प्रशासन की तरफ से जरूरी सूचनाएं, गतिविधियों आदि की जानकारी व फोटोग्राफ इत्यादि इसी पेज पर शेयर किए जाएंगे। कृपया आप इसका महत्वपूर्ण हिस्सा बनते हुए इससे जुड़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पेज को LIKE करें तथा अपने परिचितों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।

https://www.facebook.com/YOGA-DAY-GONDA-104340082292555

जानकी शरण द्विवेदी
सम्पादक
www.hindustandailynews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!