Gonda News : प्रसव पीड़ा से कराहती युवती को आरपीएफ ने पहुंचाया अस्पताल

बिना आपरेशन के पैदा हुआ बच्चा, मां-बेटे दोनों स्वस्थ

जानकी शरण द्विवेदी

गोण्डा। रेलवे सुरक्षा बल के जवानों की तत्परता से प्रसव पीड़ा से कराहती एक युवती को तत्काल जिला महिला चिकित्सालय पहुंचाया गया, जहां उसने बिना आपरेशन के एक बालक को जन्म दिया। आरपीएफ के निरीक्षक प्रवीण कुमार ने बताया कि शनिवार को भरूच से छपरा जा रही श्रमिक स्पेशल गाड़ी संख्या 09055 सायंकाल करीब 17ः40 बजे जब गोण्डा स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या 02 पर पहुंची तो आरपीएफ के उप निरीक्षक ललितेश कुमार सिंह को रेल कर्मियों द्वारा एक युवती के प्रसव पीड़ा से कराहने की सूचना मिली। इस सूचना पर तत्काल कार्रवाई करते हुए स्टेशन मास्टर से व्हील चेयर प्राप्त कर महिला को ट्रेन से उतारकर सुरक्षित चेयर पर बिठाया गया तथा 108 एम्बुलेंस व रेलवे हॉस्पिटल को तत्काल सूचना दी गई। आनन-फानन में मौके पर पहुंचे रेलवे अस्पताल के चिकित्सक ने उसे जिला महिला चिकित्सालय ले जाने की सलाह दी। तब तक एम्बुलेंस भी मौके पर आ गयी। आरपीएफ स्टाफ द्वारा युवती को जिला महिला चिकित्सालय ले जाकर भर्ती कराया गया। महिला चिकित्सालय के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा. एपी मिश्र ने बताया कि नेहा खातून (20) पत्नी सरफराज निवासी सेतपुरा थाना भवानीपुर जिला पूर्णिया (बिहार) को सायंकाल प्रसव के लिए भर्ती किया गया था। उसे यह पहला बच्चा था। भर्ती होने के एक घंटे के अंदर ही उसने एक बालक को जन्म दिया। उन्होंने बताया कि जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

यह भी पढ़ें : शादी टलने से दुखी दुल्हन पैदल पहुंच गई दूल्हे के घर


Hindustan Daily News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।