Gonda News : जिले में 14 लाख लोगों को योग से जोड़ने की तैयारी

जिला पंचायत सभागार में आयोजित तैयारी बैठक में सीडीओ ने सौंपी जिम्मेदारी

जिले के प्रत्येक गांव सभा तक पहुंचने की बनी रणनीति, जनप्रतिनिधियों का भी लिया जाएगा सहयोग

जानकी शरण द्विवेदी

गोंडा। आगामी 21 जून 2022 को अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस पूरी भव्यता के साथ मनाए जाने की तैयारियां शुरू हो गईं हैं। जिले के नवागत मुख्य विकास अधिकारी गौरव कुमार की मंशा है कि इस बार अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस को धूमधाम के साथ ‘योग महोत्सव’ के रूप में मनाया जाय। इसके लिए उन्होंने शनिवार की शाम जिला पंचायत सभागार में बुलाई गई गई तैयारी बैठक में जिले के अनेक कार्यालयाध्यक्षों, विभिन्न सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों, शिक्षण संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ योग दिवस की महत्ता पर चर्चा करते हुए इस बार जिले के करीब 14 लाख लोगों को योग से जोड़ने का लक्ष्य रखा। उन्होंने कहा इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हमें अभी से तैयारियां शुरू कर देनी है। साथ ही इसे महोत्सव बनाने के लिए हमें गांव सभा स्तर तक पहुंचना होगा।

यह भी पढें : थाने में महिला का हंगामा, SSI पर लगाया कपड़े फाड़ने का आरोप

सीडीओ ने बताया कि अभियान के प्रथम चरण में जिला प्रशासन बड़े पैमाने पर योग के मास्टर ट्रेनर्स (महिला/पुरुष) तैयार करना चाहता है, जिससे हमें गांव सभा स्तर तक प्रशिक्षक मिल सकें। इस क्रम में जिले के सभी 16 विकास खण्ड मुख्यालयों पर 23 मई से प्रशिक्षण प्रारम्भ कर दिया जाएगा। इस प्रशिक्षण के देखरेख की जिम्मेदारी सम्बंधित खण्ड विकास अधिकारी की होगी। आयुष विभाग, पतंजलि योग पीठ आदि से जुड़े योग प्रशिक्षक विकास खण्डों में प्रशिक्षण देकर ग्राम सभा स्तर के मास्टर ट्रेनर तैयार करेंगे। यह ट्रेनर ग्राम सभा के युवक-युवती, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकत्री अथवा सहायिका, एएनएम, रोजगार सेवक, ग्राम पंचायत अथवा ग्राम विकास अधिकारी, लेखपाल, सफाई कर्मचारी, प्राथमिक शिक्षक, महिला/युवक मंगल दल, नेहरू युवा केन्द्र के युवक युवतियां इत्यादि में से कोई भी हो सकता है। एनसीसी कैडेट्स, स्काउट गाइड, राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के छात्र-छात्राओं की भी प्रशिक्षण देकर मास्टर ट्रेनर के रूप में जिम्मेदारी दी जा सकती है। फिर इनके माध्यम से गांव सभा में किसी खुले तथा सार्वजनिक स्थान पर योग की कक्षाएं संचालित की जाएंगी।

यह भी पढें : वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में योगाभ्यास शुरू

सीडीओ ने कहा कि इन कक्षाओं का हमें अभिलेखीकरण भी करना होगा, जैसे कि योग कक्षाओं में उपस्थित होने वाले व्यक्ति का नाम किसी कापी या रजिस्टर पर दर्ज कर लिया जाय। संभव हो तो उसका हस्ताक्षर भी करवाया जाय। साथ ही योग कक्षाओं के चित्र भी खींचकर सुरक्षित रखे जाएं। सीडीओ ने अभियान को विस्तार देने के लिए जिले के जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग मांगा है। उन्होंने कहा कि जिले की अच्छाइयों को सार्वजनिक करने के लिए जिला प्रशासन की तरफ से ‘ट्रांसफार्मिंग गोंडा’ अभियान चलाया जा रहा है। योग के क्षेत्र में भी हम अच्छा करके प्रदेश और देश में एक संदेश दे सकते हैं। सीडीओ ने कहा कि मेरी जानकारी में लाया गया है कि योग के प्रणेता महर्षि पतंजलि की जन्म स्थली भी वजीरगंज विकास खण्ड के कोंडर ग्राम में है। ऐसी दशा में उस महान विभूति की जन्मस्थली पर तो बच्चे-बच्चे को योग करना चाहिए। उन्होंने जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी, स्थानीय निकायों के अधिशासी अधिकारियों व खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे जिला पंचायत सदस्यों, ब्लाक प्रमुखों, चेयरमैन व सभासदों, ग्राम प्रधानों तथा क्षेत्र पंचायत सदस्यों से समन्वय स्थापित कर उनका भी इस महा अभियान में सहयोग लें, जिससे 21 जून को ‘योग महोत्सव’ के रूप में आयोजित किया जा सके।

यह भी पढें : सरयू नाले पर पक्के पुल की सौगात, 3.40 करोड़ स्वीकृत

मुख्य विकास अधिकारी ने बैठक में मौजूद पतंजलि योग पीठ, गायत्री परिवार, स्वाभिमान भारत, प्रजापिता ब्रम्हकुमारीज बहनों समेत व्यापार मण्डल अन्य सामाजिक, सांस्कृतिक संगठनों से भी इस अभियान में सहयोग की अपेक्षा की। इसके साथ ही जिले के सभी महाविद्यालयों, इण्टर कालेजों समेत अन्य शिक्षण संस्थाओं में अध्ययनरत छात्र छात्राओं व उनके अभिभावकों को भी इस अभियान में जोड़ने के लिए संस्थाओं के प्रमुखों से कहा। सीडीओ ने कहा कि हमारा प्रयास समाज के सभी वर्ग के लोगों को इस अभियान से जोड़ना है। दिव्यांग सशक्तीकरण की थीम पर आधारित कार्यक्रम के तहत जिले भर के दिव्यांग बच्चों व लोगों का इस अभियान में प्रतिभाग सुनिश्चित कराने का निर्देश जिला दिव्यांग जन कल्याण अधिकारी को दिया। कहा कि इसमें जिला समन्वयक (विशिष्ट शिक्षा) तथा स्वास्थ्य विभाग का सहयोग लिया जा सकता है। उन्होंने बैठक में मौजूद कई विभागों के अधिकारियों से उनके विभाग से हो पाने वाले योगदान पर चर्चा करते हुए आयोजन को सफल बनाने के लिए पूर्ण मनोयोग से काम करने का निर्देश दिया। सीडीओ ने कहा कि जनपद की सभी सामाजिक, सांस्कृतिक संस्थाओं यथा रेडक्रास सोसायटी, लायंस क्लब, रोटरी क्लब, रोटरी क्लब (गोंडा ग्रीन), एससीपीएम कालेज आफ पैरा मेडिकल, आयुर्वेद मेडिकल कालेज, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, मेडिकल स्टोर्स एसोसिएशन, पेंशनर्स कल्याण परिषद, पैथालोजी संचालक संघ, पेट्रोल पम्प, गैस एजेंसी इत्यादि संगठनों का सहयोग भी इस अभियान में लिया जाएगा।

यह भी पढें : जनपद में तालाबों को बनाया जाएगा अमृत सरोवर

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा. आरएस केसरी, जिला विकास अधिकारी दिनकर विद्यार्थी, डीसी एनआरएलएम एनवी सविता, डीसी मनरेगा संत लाल, डीआइओएस राकेश कुमार, जिला पूर्ति अधिकारी सुरेन्द्र यादव, क्षेत्रीय आयुर्वेद एवं यूनानी अधिकारी डा. शिवाजी सिंह, डा. शिव प्रताप वर्मा, डीपीआरओ रोहित भारती, डीएसटीओ डा. नरेन्द्र कुमार, युवा कल्याण अधिकारी बलवीर सिंह, बीएसए अखिलेश सिंह, डीपीओ मनोज कुमार, पीओ डूडा विनोद कुमार सिंह, दिव्यांग जन कल्याण अधिकारी विकास वर्मा, परियोजना अधिकारी नेडा एस लाल, पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी गौरव स्वर्णकार, डीपीओ संतोष कुमार सोनी, समाज कल्याण अधिकारी राजेश चौधरी, प्राचार्य प्रो. रवीन्द्र कुमार पाण्डेय, प्रधानाचार्य श्रीमती गीता त्रिपाठी, राज बर्धन श्रीवास्तव, मेजर राजेश द्विवेदी, गिरिजा मिश्रा, ममता चौधरी, जीतेन्द्र बहादुर, रवि यादव; मंगली तिवारी, विश्वनाथ गुप्त, योग प्रशिक्षक सुधांशु द्विवेदी, विजय कुमार सिंह, शिवेन्द्र सिंह, आदर्श मिश्र, प्रवीन तिवारी, प्रियंका सिंह, रुचि शुक्ला, महेन्द्र पटेल, डिम्पल, कुसुम मौर्या, दीपक सिंह, भूपेन्द्र आर्य, नीतू खत्री, रीना मिश्रा, डा. सीमा श्रीवास्तव, डा. मौसमी सिंह, राज कुमार वर्मा, राम वचन वर्मा, हनुमान वर्मा, निधि कालरा, बीके ममता, बीके प्रतिमा, आरती सैनी, सुश्री फरीदा आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढें : बहन के हत्यारे तीन भाइयों को फांसी की सजा

यह भी पढें : आपको वज्रपात की पूर्व सूचना चाहिए तो मोबाइल में डाउनलोड करें यह ऐप

महत्वपूर्ण सूचना

जिले के युवा जिलाधिकारी डा. उज्ज्वल कुमार और नवागत सीडीओ गौरव कुमार की अगुवाई में जिले में बड़े बदलाव की कोशिशें शुरू कर दी गई हैं। यह दोनों युवा अधिकारी Transforming Gonda के नारे के साथ जिले के चाल, चरित्र और चेहरे में आमूल चूल परिवर्तन लाना चाहते हैं। जिले के विकास के लिए शुरू की गई अनेक महत्वपूर्ण योजनाएं इसी दिशा में किए जा रहे कोशिशों का परिणाम है। आगामी 21 जून को जब पूरा विश्व योग दिवस मना रहा होगा, तब योग के प्रणेता महर्षि पतंजलि की जन्म स्थली पर इन दोनों अधिकारियों ने कुछ विशेष करने का निर्णय लिया है। लक्ष्य है कि जिले की करीब एक तिहाई आबादी को उस दिन योग से जोड़ा जाय। इस क्रम में अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस को सफल बनाने के लिए जनपद के ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ने के लिए YOGA DAY GONDA नाम से एक फेसबुक पेज बनाया गया है। जिला प्रशासन की तरफ से जरूरी सूचनाएं, गतिविधियों आदि की जानकारी व फोटोग्राफ इत्यादि इसी पेज पर शेयर किए जाएंगे। कृपया आप इसका महत्वपूर्ण हिस्सा बनते हुए इससे जुड़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पेज को LIKE करें तथा अपने परिचितों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करें।

https://www.facebook.com/YOGA-DAY-GONDA-104340082292555

जानकी शरण द्विवेदी
सम्पादक
www.hindustandailynews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!