Gonda : शोक परेड़ आयोजित कर ‘ओली’ को दी गई सैनिक सम्मान के साथ विदाई

10 वर्ष से आरक्षी रैंक पर काम कर रही ‘ओली’ का शनिवार को हुआ निधन

जानकी शरण द्विवेदी

गोंडा। उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में 10 वर्ष से अधिक समय तक ‘आरक्षी’ रैंक पर नौकरी कर रही एक्सप्लोसिव श्वान ‘ओली’ का शनिवार को दोपहर बाद निधन हो गया। पुलिस परिवार की तरफ से पुलिस लाइन में शहीद स्मारक के समक्ष ओली का शव रखकर पुलिस अधिकारियों ने शोक परेड आयोजित कर उसके शव पर पुष्प चक्र अर्पित कर सैनिक सम्मान के साथ अश्रुपूर्ण अंतिम विदाई दी। अपर पुलिस अधीक्षक शिवराज ने बताया कि 10 मार्च 2011 को जन्मी ‘ओली’ का एक्सप्लोसिव श्वान के रूप में नायक हैण्डलर तुलसी सोनकर की देखरेख में राष्ट्रीय श्वान प्रशिक्षण केन्द्र टेकनपुर ग्वालियर (मध्यप्रदेश) से प्रशिक्षण हुआ। 06 माह का प्रशिक्षण पूरा करने के उपरान्त उसकी 17 जून 2012 को स्थानीय पुलिस लाइन में आरक्षी रैंक पर आमद कराई गई। विभाग में 10 वर्ष से अधिक की सेवा के दौरान ‘ओली’ ने अनेक बार न केवल अपराधियों को पकडवाने व महत्वपूर्ण घटनाओं का खुलासा करने में अपना अमूल्य सहयोग प्रदान किया, बल्कि छिपे विस्फोटकों का पताकर पुलिस का काम आसान किया। उन्होंने बताया कि शनिवार को दोपहर बाद ड्यूटी के दौरान ‘ओली’ का निधन हो गया। उसके निधन की खबर मिलते ही पुलिस विभाग में शोक की लहर दौड़ गई।

‘ओली’ के शव को पुलिस लाइंस स्थित शहीद स्मारक के समक्ष रखकर पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों ने अंतिम विदाई दी। अपर पुलिस अधीक्षक शिवराज ने पूरे सैनिक सम्मान के साथ उसके शव पर पुष्प चक्र अर्पित किया। प्रतिसार निरीक्षक आरपी सिंह समेत अनेक पुलिस कर्मियों द्वारा दो मिनट का मौन रखकर अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि दी गई। एएसपी ने कहा कि ‘ओली‘ पुलिस परिवार की सदस्य थी। वह हमेशा अमर रहकर हम सभी को प्रेरित करती रहेगी। उन्होंने बताया कि वर्तमान में विभाग द्वारा ‘ओली’ के खानपान पर प्रतिमाह 18 हजार रुपए तथा इलाज इत्यादि के लिए तीन हजार रुपए खर्च किया जाता था। उन्होंने बताया कि ओली ने अप्रैल 2014 में कोतवाली नगर के अन्तर्गत तोपखाना मोहल्ले में छुपाकर रखे गए बम के जखीरे का पता लगाया। अक्टूबर 2015 में खरगूपुर कस्बे में सिलेंडर फटने की अफवाह पर ईट पत्थर में दबे बारूद के ढे़र का पता लगाया। मई 2016 में जनपद बहराइच के थाना कोतवाली नगर के अंतर्गत रेलवे स्टेशन के पास कचरे के ढे़र में पड़े बम का पता लगाया। दिसंबर 2019 में कटरा बाजार थाना क्षेत्र के अंतर्गत चंदवतपुर घाट के किनारे गुमटी के पीछे झाड़ी में रखे हथगोला का पता लगाया। नवंबर 2021 में वजीरगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत टिकरी कस्बा के करीब एक मकान में दबे बारूद का पता लगाया।

यह भी पढें : SC ST एक्ट पर हाई कोर्ट का महत्वपूर्ण फैसला

आवश्यकता है संवाददाताओं की

तेजी से उभरते न्यूज पोर्टल www.hindustandailynews.com को गोंडा जिले के सभी विकास खण्डों व समाचार की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थानों तथा देवीपाटन, अयोध्या, बस्ती तथा लखनऊ मण्डलों के अन्तर्गत आने वाले जनपद मुख्यालयों पर युवा व उत्साही संवाददाताओं की आवश्यकता है। मोबाइल अथवा कम्प्यूटर पर हिन्दी टाइपिंग का ज्ञान होना आवश्यक है। इच्छुक युवक युवतियां अपना बायोडाटा निम्न पते पर भेजें : jsdwivedi68@gmail.com
जानकी शरण द्विवेदी
सम्पादक
मोबाइल – 9452137310

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!