कटघरे में तो आयें वकील साहबान!

के. विक्रम राव गत सप्ताह सर्वोच्च न्यायालय ने वरिष्ठ वकीलों के जमीर को कचोटा। मसला था कि पैरवी हेतु मुकदमा स्वीकारने की बेला पर जुड़े हुये पहलुओं पर वे क्या … Read More

दुहरी त्रासदी थी इंदिरा गांधी की!

के. विक्रम राव दो राजनीतिक भूचाल साढ़े चार दशक पूर्व आज ही के दिन (बृहस्पतिवार, 12 जून 1975) उत्तर तथा पश्चिम भारत में आये थे। उससे दुनिया भी हिल गयी … Read More

पिघलते ग्लेशियर और जलवायु परिवर्तन की मार कर रही है तीसरे पोल पर वार

निशांत हिमालय और काराकोरम पर्वत श्रंखलाओं में जलवायु परिवर्तन के फुटप्रिंट बिल्कुल खुलकर ज़ाहिर हो गये हैं। इस क्षेत्र को तीसरा पोल भी कहा जाता है और यहां ग्लेशियर पिघल … Read More

राजनारायण बनाम इंदिरा गांधी मुकदमा, जिसने इतिहास का रुख मोड़ दिया

राज खन्ना 46 साल गुजर चुके हैं। पर यह भूलने वाला मुकदमा नहीं है। 12 जून 1975 को इस मुकदमें के फैसले ने देश में भूचाल ला दिया था। बाद … Read More

नौकरी चाहिये तो टीम वर्क , मल्‍टीटास्‍किंग और नेतृत्व क्षमता निखरें

कोरोना महामारी के इस कठिन दौर में कई लोगों की नौकरियां समाप्त हो गयी हैं। अगर आपके साथ ही ऐसा ही हैं तो निराश न हों अपनी स्किल्स बढ़ायें ओर … Read More

लाइब्रेरी साइंस में भी संभावनाएं

आम तौर पर माना जाता है कि एक लाइब्रेरियन का काम सिर्फ किताबों की सही तरह से व्यवस्था करना है पर यह सही नहीं है। बल्कि लाइब्रेरियन का काम लाइब्रेरी … Read More

लक्षद्वीप पर बवंडर क्यों उठा?’

के. विक्रम राव नैसर्गिक द्वीपसमूह लक्षद्वीप को पड़ोसी केरल की मुस्लिम लीग ’दक्षिण का कश्मीर’ बनाने हेतु आतुर है। गत दिनों से यह प्राकृतिक सौंदर्यवाला भूभाग सुर्खियों में छाया है। … Read More

लॉक डाउन में हुआ कोल फ्लाई ऐश का मिसमैनिज्मेंट, बढ़ा प्रदूषण

निशांत एक ताज़ा रिपोर्ट से ख़ुलासा हुआ है कि अप्रैल 2020 से मार्च 2021 के बीच देश के 7 राज्यों में फ्लाई ऐश, या थर्मल पावर प्लांट्स में बनी कोयले … Read More

नेहरु के आखिरी कुछ दिन

के. विक्रम राव अपने निधन के ठीक पांच दिन पूर्व जवाहरलाल नेहरु ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। लम्बे सार्वजानिक जीवन की अंतिम (22 मई 1964) थी। उस शुक्रवार को उनकी … Read More

गांधीजी की अंतिम इच्छा खारिज ही रही!

के. विक्रम राव महात्मा गांधी के आखिरी निजी सचिव (महादेव देसाई के निधन के बाद) रहे वेंकटरामन कल्याणम की 99 वर्ष की आयु में गत मंगलवार (4 मई 2021) को … Read More

विचार : बेहतर प्रदर्शन के लिए बच्चों को लालच न दें

अभिभावक कई बार बेहतर प्रदर्शन के लिए बच्चों को लालच देते हैं जो सही नहीं हैं। अगर आप भी अपने बच्चों को इस प्रकार की बातें कहते हैं कि अगर … Read More

विचार : इंन्सानियत की मौत और इंसानों का पतन एक खौफनाक त्रासदी ?

लेखक- नरेन्द्र भारती सवेदनाएं मर चुकी है। मृतप्रांयः हों चुकी है।अपना ही खून दगा दे रहा हैं।अपने आज पराये होते जा रहे है।कोराना महामारी से मरने वालों को जलाने से … Read More

विचार : हाईकोर्ट की सख्ती सही

(लेखक\सिद्वार्थ शंकर)देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हाहाकार मचा हुआ है। मद्रास हाईकोर्ट ने सोमवार को संक्रमण के प्रसार के लिए चुनाव आयोग जिम्मेदार ठहराते हुए जमकर फटकार … Read More

विचार : कोरोना की बढ़ती रफतार, लाशों के लग रहे अंबारः कौन जिम्मेवार ?

लेखक- नरेन्द्र भारती देश में कोरोना महामारी की रफतार तेजी से बढती जा रही है। लाशों के अंबार लग रहे है। पिछले 24 घंटों में 3 लाख के करीब मामले … Read More

बलात्कार पर इमरान खान

के. विक्रम राव इस्लामी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री खान मोहम्मद इमरान खान ने गत सप्ताह राय व्यक्त की कि महिलाओं के हल्के परिधान से बलात्कारी प्रवृत्ति को बल मिलता है। सेक्स … Read More

‘नई’ तथा ‘नयी’ में से सही वर्तनी कौन सी है? या दोनों ही मान्य हैं?

नालेज डेस्क व्याकरण के नियमों के अंतर्गत इसका उत्तर इस प्रकार होगा। ‘नई’ और ‘नयी’ दोनों ही सही है, लेकिन दोनों शब्दों के प्रयोग में काफी अंतर होता है। अक्सर … Read More

मोदी ने बनाया बिडेन के साथ जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए ‘एजेंडा 2030’

निशांत अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने घोषणा की है कि ट्रम्प प्रशासन नीतियों के ठीक विपरीत, अमेरिका 2005 के स्तरों के सापेक्ष 2030 तक ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में 50 फीसद-52 … Read More

अब नहीं बनेंगे नए कोयला बिजली घर

निशांत दिल्ली स्थित जलवायु संवाद संगठन क्लाइमेट ट्रेंड्स द्वारा किए गए एक ताजा अध्ययन के मुताबिक भारत में मौजूदा स्थापित ऊर्जा उत्पादन क्षमता के करीब 50 फीसद हिस्से का उत्पादन … Read More

चन्द्रशेखर : अलग अंदाज़

जन्म दिन (17 अप्रैल) पर विशेष राज खन्ना चन्द्रशेखर की पहचान उनके बेबाक-बेलौस लहजे से जुड़ी हुई थी। एक निर्भीक-निडर नेता जिसकी अपनी शैली थी और अपना अंदाज। पहले प्रजा … Read More

मनुष्यता को बचाइए धर्माचार्यों

हेमंत शर्मा कुंभ करोड़ों हिंदुस्तानियों की आस्था का पर्व है। इस परम्परा के केन्द्र में आस्था ही है। और आस्था व्यक्ति की होती है। समाज की होती है। जब व्यक्ति … Read More

प्रेस की आजादी के प्रतीक थे रामनाथ गोयनका

जन्म दिन (18 अप्रैल) पर विशेष सुरेंद्र किशोर देश के एक बड़े नामी संपादक ने अपने यहां दीवाल पर सिर्फ रामनाथ गोयनका की तस्वीर लगा रखी थी, किसी पत्रकार की … Read More

विचार : रैलियों पर रोक सही

लेखकसिद्वार्थ शंकरकांग्रेस सांसद राहुल गांधी और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बाद अब भाजपा ने पश्चिम बंगाल में तत्काल प्रभाव से बड़ी रैलियों, जन-सभाओं एवं आयोजनों पर रोक लगाने … Read More

संविधान में संशोधन का सवाल

(डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर के जन्म दिन पर विशेष) राज खन्ना क्या साधारण बहुमत से संविधान में संशोधन की व्यवस्था की जानी चाहिए? नवम्बर 1948 में प्रारूप समिति के अध्यक्ष डॉक्टर … Read More

आपदा में अवसर नहीं, प्रबंधन!

शंभूनाथ शुक्ल अनिल अम्बानी के बेटे अनमोल अंबानी ने ट्वीट किया है, कि सरकार की लॉक डाउन पॉलिसी से छोटे उद्योग ख़त्म हो रहे हैं। इसका लाभ बड़े उद्योगपतियों को … Read More

जब राजीव गांधी ने अमेठी में करवाई बूथ कैप्चरिंग और पत्रकारों को पिटवाया

दयानंद पाण्डेय कांग्रेस का गढ़ रही अमेठी संसदीय क्षेत्र की भी अजब कहानी है। 1977 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के तब के युवराज संजय गांधी ने जब चुनाव लड़ने … Read More

जलवायु परिवर्तन से लुप्त हो सकते हैं कस्तूरी हिरण और हिम तेंदुए

फीचर डेस्क यदि ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन इसी रफ्तार से जारी रहा तो प्रकृति के कई अजूबे भी लुप्त हो सकते हैं। इनमें दुर्लभ वनस्पतियां एवं जानवर शामिल हैं। बायोलॉजिकल … Read More

error: Content is protected !!