20 नवम्बर से बेमियादी हड़ताल पर जाएंगे विद्युत अभियंता

जीपीएफ सुरक्षा को लेकर श्वेत पत्र जारी करने की मांग कर रहा संगठन

जानकी शरण द्विवेदी
गोण्डा। राज्य सरकार यदि एक सप्ताह के अंदर हमारी मांगों पर सकारात्मक रुख अख्तियार करते हुए कार्रवाई नहीं करती है तो प्रदेश के सभी अवर अभियंता तथा प्रोन्नत अभियंता आगामी 20 नवम्बर से अनिश्चित कालीन कार्य वहिष्कार शुरू कर देंगे। यह जानकारी राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन के जिला सचिव इं. रामा जी ने हिन्दुस्तान डेली न्यूज से वार्ता के दौरान दी।
जिला सचिव ने कहा कि उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड के कार्मिकों का जीपीएफ सीपीएफ ट्रस्ट में जमा धनराशि 4122.70 करोड़ रुपए वर्ष 2017 से 2018 के बीच दीवालिया होने के कगार पर खड़ी एक प्राइवेंट कंपनी डीएचएफएल में निवेश कर दिया गया। यह कार्रवाई भारत सरकार के ट्रस्ट संचालन हेतु बनाए गए नियमों के विपरीत जाकर किया गया। अब जब मुंबई हाईकोर्ट द्वारा कम्पनी की वित्तीय हालात सही न होने के कारण उसके खातों को सीज कर दिया गया है, तो ट्रस्ट में कार्मिकों के गाढ़ी कमाई के अंश के रूप में संचित लगभग 2200 करोड़ डूबने के कगार पर है। प्रकरण संज्ञान में आने के बाद से ही राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर संगठन घोटाले में संलिप्त अधिकारियों को तत्काल पद से निलंबित कर उन पर विधि सम्मत अभियोजन की कार्रवाई करने तथा सरकार से कार्मिकों के पैसों के गारंटीड रिकवरी हेतु गजट नोटिफिकेशन जारी करने व ट्रस्ट में संचित धन को लेकर श्वेत पत्र जारी कर सूचना सार्वजनिक करने की मांग करता रहा है, जिससे कार्मिकों को पता चल सके कि उनका भविष्य निधि में जमा पैसा कितना और किन हालातों में है। इन्हीं सब मांगों को लेकर बुधवार को संगठन द्वारा मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन नगर मजिस्ट्रेट राकेश सिंह को सौंपा गया। विद्युत कार्मिकों के हित में मांगों के समर्थन में डिप्लोमा इंजीनियर महासंघ के विभिन्न घटक दलों ने भी साथ दिया। इस मौके पर इं. डीके प्रजापति (मध्यांचल सचिव), इं. पवन कुमार (जनपद अध्यक्ष), इं. पीयूष सिंह, इं पीके वर्मा, इं. एसके श्रीवास्तव, इं. अनूप श्रीवास्तव, इं. उमेश वर्मा, इं. रामसूरत वर्मा, इं. बृजनंदन यादव, इं. संजीव कुमार, इं. अजय कुमार गुप्ता, इं. अरजीत, इं. सुनील कुमार, इं. उत्तम चंद, इं. संजय मौर्या, इं. अजय कुमार, इं. अजीत सिंह, इं. आकाश रावत, इं. सुनील, इं. विशाल चैरसिया, इं. देवेंद्र कुमार प्रजापति आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat