सड़कों के गड्ढामुक्ति का अभियान युद्धस्तर पर चले: उप मुख्यमंत्री केशव

-लोक निर्माण विभाग की सड़कों पर हेक्टोमीटर व किलोमीटर के स्टोन लगाने के निर्देश


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि सड़कों को गड्ढ़ामुक्त करने का अभियान युद्धस्तर पर चलाया जाय। अभियान को सफल बनाने के लिए उन्होंने मण्डलवार व जिलावार कार्ययोजना बनाने का निर्देश दिया है। 
उप मुख्यमंत्री सोमवार को अपने सरकारी आवास-7, कालिदास मार्ग पर आयोजित एक उच्च स्तरीय बैठक में लोक निर्माण विभाग के कार्यों के प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों से कहा कि राजमार्ग, प्रमुख जिला मार्ग, अन्य जिला मार्ग व ग्रामीण सड़कों के नवनिर्माण व नवीनीकरण तथा गडढ़ामुक्त करने का प्रतिदिन का लक्ष्य निर्धारित करते हुये कार्य कराये जायं। 
उन्होंने कहा कि सड़कों की मरम्मत, नवनिर्माण कराये जाने के कार्य से जहां प्रदेश की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी और लोगों को आवागमन आसान होगा, वहीं इससे ज्यादा से ज्यादा मजूदरों व कामगारों को रोजगार उपलब्ध हो सकेगा। उन्होंने कहा कि सड़कों का निर्माण रोजगार देने का अच्छा प्लेटफार्म है। 
उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि ग्रामीण मार्गों को अन्य जिला मार्गों में तथा अन्य जिला मार्गों को मुख्य जिला मार्गों में तथा मुख्य जिला मार्गों को राजमार्गों में बदलने के लिये प्रभावी प्रयास किये जांय। श्री मौर्य ने कहा कि कौन सी सड़क कितनी पुरानी है, इसका वर्षवार ब्यौरा तैयार किया जाय। उन्होंने निर्देश दिये कि लोक निर्माण विभाग की सड़कों पर प्रत्येक 200 मीटर व एक किमी पर स्टोन (पिलर) लगाये जायं तथा उन पर किमी व मीटर दर्शाते हुये लोक निर्माण विभाग का नाम लिखा जाय। 
उन्होंने कहा कि ग्रामीण मार्ग, अन्य जिला मार्ग तथा जिला मार्गों के निर्माण में जहां पर घनी बस्तियां व गांव पड़ रहे हों, वहां पर आरसीसी रोड बनाया जाय तथा ड्रेनेज की उचित व्यवस्था की जाय। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सड़कों का मजबूत नेटवर्क बनाया जा रहा है। अधिकारी, जनसंख्या और स्थानीय आवश्यकताओं को देखते हुये सड़कों के नवनिर्माण व मरम्मत की भविष्य की भी कार्ययोजना पहले से ही तैयार रखें।
श्री मौर्य ने कहा कि कम लागत, उच्च गुणवत्ता व उच्च, नवीनतम व आधुनिक तकनीकी अपनाकर सड़कों का निर्माण, उच्चीकरण व नवीनीकरण के कार्य कराये जायं। मार्गों पर रोड सेफ्टी के दृष्टिगत मार्ग सुरक्षा से सम्बन्धित बिन्दुओं का उल्लेख करते हुये कहा की अच्छी किस्म के बोर्ड लगाये जांय। उन्होंने निर्देश दिये कि बोर्डों, पुल, पुलिया, किनारे के पेड़ों को अच्छे और टिकाऊ कलर से पेटिंग करायी जाय। निर्देश दिये कि गैंगमैनों व मेटों को सक्रिय किया जाय।
उप मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि डाॅ0 एपीजे कलाम पथों के बोर्डों पर मेघावी बच्चों के फोटो व अन्य विवरण, मेजर ध्यानचन्द विजय पथों के बोर्डों पर खिलाड़ियों के फोटो व विवरण तथा जय हिन्द विजय पथ योजना के तहत शहीदों के गांवों तक बनायी जा रही अथवा मरम्मत की जा रही सड़कों पर लगाये जाने वाले बोर्डों पर सम्बन्धित शहीद की फोटो व विवरण अंकित कराया जाय। 
उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि इन मेघावी छात्रों व छात्राओं तथा खिलाड़ियों को लोक निर्माण विभाग की ओर से प्रशंसा पत्र उपलब्ध कराये जांय तथा शहीदों के नाम के प्रशंसा-पत्र उनके परिजनों को उपलब्ध कराये जांय। इससे जहां प्रतिभावों को सम्मान मिलेगा, वहीं उनका उत्साहवर्धन होगा और अन्य छात्र-छात्राओं व खिलाड़ियों को प्रेरणा व प्रोत्साहन मिलेगा तथा शहीदों के नाम से उनके परिजनों को दिये जाने वाले प्रशंसा-पत्र से, जहां उनके परिजनों को सांत्वना मिलेगी, वहीं लोगों में देश-प्रेम की भावना भी बलवती होगी।
बैठक के दौरान प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग नितिन रमेश गोकर्ण ने विभाग में संचालित योजनाओं की प्रगति की बिन्दुवार जानकारी दी। सचिव लोक निर्माण विभाग समीर वर्मा, विभागाध्यक्ष लोक निर्माण विभाग राजपाल सिंह, प्रमुख अभियन्ता एके जैन, मुख्य अभियन्ता अशोक कुमार अग्रवाल, एमडी राजकीय निर्माण निगम सत्य प्रकाश सिंघल, एमडी सेतु निगम अरविन्द श्रीवास्तव, विशेष कार्याधिकारी प्रदीप कुमार प्रमुख रूप से बैठक में मौजूद रहे।

error: Content is protected !!