सीजेआइ की सुरक्षा व्यवस्था पर एजेंसियां सतर्क

नेशनल डेस्क
नई दिल्ली। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की सुरक्षा व्यवसाथ को लेकर गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय और खुफिया एजेंसी द्वारा बुधवार को बैठक आयोजित की गई। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर कहा गया कि कोई भी भारत के मुख्य न्यायाधीश के करीब जा सकता है और उन्हें माला पहना सकता है और सेल्फी ले सकता है। जो कि बेहद खतरनाक है। बैठक के दौरान इस पर जोर दिया गया कि भारत के मुख्य न्यायाधीश की सुरक्षा बेहद कमजोर है। दिल्ली पुलिस के जॉइंट सीपी (सुरक्षा) आई डी शुक्ला की ओर से एक पत्र लिखा गया है। जिसमें कहा गया कि चर्चा के दौरान यह मुद्दा उठाया गया कि एक पॉइंट पर आकर दिल्ली पुलिस की सुरक्षा इतनी कमजोर हो जाती है कि कोई भी सीजेआइ के पास जा सकता है और उनके साथ सेल्फी ले सकता है। इसकी सराहना नहीं होनी चाहिए, बल्कि इसे तुरंत रोकने की जरूरत है। उच्चस्तरीय बैठक के बाद कहा गया कि रंजन गोगोई की सुरक्षा से जुड़ी सभी सुरक्षा एजेंसियों को उनके काफिले की पार्किंग को सुरक्षित करने और नजदीकी टीम को तैनात किया जाए। पत्र में ये भी कहा गया कि मौजूदा सुरक्षा की स्थिति को देखते हुए यह जरूरी है कि इससे जुड़ी सभी एजेंसियां सभी उच्च अधिकारियों की फुलप्रूफ सुरक्षा सुनिश्चित की जाए।


Hindustan Daily News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।