साम्प्रदायिक सौहार्द के प्रतीक थे जवाहर लाल नेहरु

– कांग्रेसियों ने निकाली नेहरू सन्देश पदयात्रा

कानपुर (हि.स.)। देश की आजादी के बाद से अंतिम समय तक पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु साम्प्रदायिक सौहार्द को बनाए रखने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी। इसी के चलते देश का विकास संभव हो सका, लेकिन कुछ सालों से ऐसा माहौल बना कि इसमें कमी आ रही है। हम लोगों को एक बार फिर जवाहर लाल नेहरु की नीति पर देश को आगे ले जाना है। यह बातें शुक्रवार को पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु की पुण्यतिथि पर कांग्रेसियों ने एक सुर में कहीं।

पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की पुण्यतिथि को कांग्रेसियों ने शुक्रवार को सांप्रदायिक सद्भावना दिवस के रुप में मनाया। इस मौके पर शहर कांग्रेस कमेटी उत्तर की ओर से नेहरु संदेश पदयात्रा निकाली गई। गांधी प्रतिमा फूल बाग से शुरु हुई इस नेहरु संदेश पदयात्रा में राम धुन गाते हुए कांग्रेसी चल रहे थे।

अध्यक्ष नौशाद आलम मंसूरी, पूर्व विधायक भूधर मिश्रा और नेक चंद पांडे की अगुवाई में कांग्रेसियों ने सांप्रदायिक सौहार्द का नारा बुलंद किया। विभिन्न मार्गो से होते हुए नेहरु प्रतिमा घंटाघर पहुंची पदयात्रा सभा में तब्दील हो गई। कांग्रेसियों ने कहा कि देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु के कार्य आज के युवाओं के लिए प्रेरणास्रोत हैं। कांग्रेस नेताओं ने सांप्रदायिक सौहार्द के अपने संकल्प को एक बार फिर से दोहराया।

अजय

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!