सहकारिता मंत्री की अध्यक्षता में आयोजित हुआ ‘स्वच्छ उत्सव 2020’

संवाददाता
बहराइच। डेटाल बनेगा स्वच्छ इंडिया अन्तर्गत आगा खान फाउण्डेशन द्वारा हरियाली रिसार्ट में आयोजित ‘स्वच्छ उत्सव 2020’ कार्यक्रम का मुख्य अतिथि प्रदेश के सहकारिता मंत्री श्री मुकुट बिहारी वर्मा ने दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारम्भ किया तथा स्कूल के शिक्षक, शिक्षिकाओं एवं छात्र छात्राओं को उनके अच्छे प्रयासों के लिए सम्मानित किया। इसके अलावा 100 विद्यालयों के साबुन बैंक में 14000 साबुन दान भी किए। इस अवसर पर बच्चों द्वारा सरस्वती वन्दना, स्कूल स्वच्छता, व्यक्तिगत स्वच्छता एवं आस-पड़ोस की स्वच्छता पर लघु नाट्य प्रस्तुत किया गया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सहकारिता मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि मानव सहित पृथ्वी पर वास करने वाले सभी जीवों के लिए स्वच्छता अपना एक अलग मुकाम रखती है। श्री वर्मा ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ स्वच्छ देश व प्रदेश के लिए दृढ़ संकल्पित हैं। सम्पूर्ण भारत में स्वच्छता के लिए विभिन्न कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं साथ ही ग्राम स्तर से लेकर जनपद, प्रदेश एवं राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन जैसे कार्यक्रमों की सफलता के लिए लोगों का जागरूक होना बहुत जरूरी है।
सहकारिता मंत्री ने स्वच्छता मिशन के तहत आगा खान फाउण्डेशन द्वारा संचालित की जा विभिन्न गतिविधियों पर संतोष व्यक्त करते हुए पदाधिकारियों से अपेक्षा की कि ऐसे कार्यक्रमों को ग्राम पंचायत तथा विद्यालय स्तर पर आयोजित किया जाये ताकि अधिक से अधिक लोग स्वच्छता के महत्व को समझे और अपने जीवन में स्वच्छता को आत्मसात करें। सहकारिता मंत्री श्री वर्मा ने फाउण्डेशन के पदाधिकारियों को यह भी सुझाव दिया कि स्वच्छता से सम्बन्धित जो भी प्रस्तुतिकरण किया जाये उसे सरल व सामान्य भाषा में रखा जाये ताकि गाॅव के लोग भी विषय विशेषज्ञों की बातों को समझ कर उस पर अमल कर सकें।
कार्यक्रम के दौरान आगा खान फाउंडेशन के जयराम पाठक ने संस्था द्वारा किए जा रहे प्रयासों के बारे में संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत करते हुए बताया कि वर्तमान में संस्था मंडल के 4 जिलों के 1733 स्कूलों में स्कूल स्वच्छता शिक्षा कार्यक्रम संचालित कर रही है। कार्यक्रम में मौजूद शिक्षकों ने संस्था के सहयोग से स्कूलों में पढाये जा रहे स्वच्छता पाठ्यक्रम से आए बदलावों पर प्रकाश डाला, और यह बताया कि स्वच्छता पाठ्यक्रम को बच्चों के पाठ्यक्रम में शामिल किए जाने से बच्चों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता व नेतृत्व का निर्माण हो रहा है। शिक्षकों ने बताया कि अब विद्यालयों में स्वच्छता की देखरेख की जिम्मेदारी शिक्षकों के साथ-साथ बच्चों की “बाल संसद” द्वारा निभाई जाती है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सहायक निदेशक बेसिक शिक्षा देवीपाटन मण्डल विनय मोहन वन ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा सरकारों के प्रयास के साथ साथ ऐसे कार्यक्रमों से लोगों का जुड़ाव बहुत ही आवश्यक है, जिसके लिए ऐसे कार्यक्रम अत्यन्त महत्वपूर्ण हैं। राज्य कार्यक्रम प्रबंधक सुधीर चिल्लरेगा ने कार्यक्रम में आए हुए अधिकारियों बच्चों शिक्षकों का दिल से आभार व्यक्त करते हुए कहा कि निरन्तरता के साथ संस्था ऐसे प्रयासों को जारी रखेगी। कार्यक्रम के अन्त में मुख्य अतिथि सहकारिता मंत्री ने पांच स्कूलों द्वारा बनाए गए स्वच्छता मॉडल को देखकर विद्यालयों के अभिनव प्रयासो की सराहना की। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. सुरेश सिंह, प्रभारी बीएसए बहराइच उदय राज व श्रावस्ती के आंेकार राना, डीपीएम एनएचएम सरयू खान, डीसीपीएम मोहम्मद राशिद, सहकारिता मंत्री के प्रतिनिधि गौरव वर्मा सहित 05 विकास खण्डों के खण्ड विकास अधिकारी, सहायक विकास अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, स्कूल के शिक्षकगण व बच्चे, संस्था के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *