सरकार के खिलाफ सपाइयों ने किया प्रदर्शन, पथराव, पुलिस ने भांजी लाठी

वाराणसी।  प्रदेश में बढ़ती महंगाई, बिगड़ रही कानून व्यवस्था और सरकार की नीतियों के विरोध में सोमवार को समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने  उग्र प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान धक्का-मुक्की, नोकझोंक को देख पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। यह देख कार्यकर्ताओं ने पुलिस बल पर पथराव करना शुरू किया तो जवानों ने लाठी भांजते हुए उन्हें खदेड़ दिया। इसके बावजूद विरोध करने वाले लगभग पचास से अधिक कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेकर पुलिस लाइन भेज दिया गया । इस दौरान कायकर्ता सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते रहे।
पार्टी के पूर्व घोषित प्रदेश व्यापी विरोध प्रदर्शन के क्रम में जिला और महानगर इकाई के नेतृत्व में सपा कार्यकर्ता बड़ी संख्या में पूर्वांह में जिला मुख्यालय पहुंचे। मुख्यालय पर लोहिया वाहिनी, युवजन सभा, समाजवादी छात्र सभा, यूथ ब्रिगेड के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन के बीच ‘बेरोजगारों को काम दो’ लिखी तख्तियां हाथों में लहराने के साथ योगी सरकार मुर्दाबाद का नारा लगाने लगे। यह देख वहां भारी फोर्स के साथ एसपी सिटी विकास चंद्र त्रिपाठी,एसीएम फोर्थ शुभांगी शुक्ला पहुंच गई। फोर्स को देख उग्र कार्यकर्ता अफसरों से नोकझोंक, धक्कामुक्की कर कलेक्ट्रेट परिसर में जिलाधिकारी को ज्ञापन देने के लिए आगे बढ़ने लगे। जवानों ने  बैरिकेडिंग लगाकर उन्हें रोक ​लिया। रोके जाने से नाराज कार्यकर्ता बैरिकेंडिग को धकेलने लगे तो जवानों ने भी उन्हें पीछे धकेलना शुरू कर दिया। इसी दौरान भीड़ में शामिल कुछ कार्यकर्ताओं ने पुलिस बल पर पथराव कर दिया। इससे मुख्यालय पर अफरा-तफरी मच गई। जवानों ने स्थिति पर नियंत्रण के लिए हल्का बल प्रयोग कर पथराव कर रहे कार्यकर्ताओं को खदेड़ दिया। इस दौरान उग्र प्रदर्शन करने वाले पचास से अधिक कार्यकर्ताओं को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया।कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज और हिरासत में लिये जाने से क्षुब्ध पार्टी के महानगर अध्यक्ष विष्णु शर्मा ने सरकार पर तानाशाही का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज  लोकतंत्र की हत्या है। कार्यकर्ता और पदाधिकारी डीएम से मिलकर अपनी बात कहने जा रहे थे। लाठीचार्ज में कई कार्यकर्ता घायल हो गए हैं। मुख्यालय पर तनाव देख भारी फोर्स की तैनाती कर दी गई है।

error: Content is protected !!