सपा के राष्ट्रीय सचिव ने बैठकें कर कृषि विधेयक की जानकारी दी



प्रयागराज (हि.स.)। देश में लागू होने वाले नये कृषि विधेयक के विरोध में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव अखिलेश कटियार ने शनिवार को जनपद के फाफामऊ, सोरांव, फूलपुर विधान सभाओं में किसानों, नौजवानों की बैठकें कर विधेयक से होने वाले नुकसान की जानकारी दी। उन्होंने आरोप लगाया कि यह किसानों के हितों पर कुठाराघात करने वाला काला कानून है। जिसे भाजपा की केंद्र एवं प्रदेश सरकार संवेदनहीनता की हद तक देश के किसानों पर जबरन थोपना चाहती है। इस कानून के लागू होने के बाद देश का किसान पूंजीपतियों का गुलाम बनकर रह जाएगा। 
उन्होंने कहा कि आज भी पूरी तरह से एमएसपी लागू न होने से किसानों को अपनी उपज को औने पौने दाम में बेचना पड़ता है। नए कानून से तो मंडी खत्म हो जाएगी। किसानों को दोगुनी कीमत तो दूर उनकी लागत नहीं मिल पाएगी।
 श्री कटियार ने कहा कि सपा के संस्थापक मामुलायम सिंह यादव ने किसानों की समस्याओं को लेकर सड़क से लेकर संसद तक संघर्ष का जो रास्ता दिखाया है, उसको आगे बढ़ाते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव बेहद संवेदनशील हैं। 

सपा जिलाध्यक्ष योगेश चन्द्र यादव की अगुवाई में सपा कार्यकर्ताओं ने अखिलेश कटियार का स्वागत किया। श्री कटियार ने शनिवार को जनपद के लालगोपालगंज, रेरुआ चौराहे, कौड़िहार, हाथीगहाँ, रामपुर, मलाक हरहर, सोरांव, दादौली, सकरमऊ, पिलख़ुआ, सोनवा का पूरा, चकश्याम, सरायलहूरी, अशोक नगर, कलान्दरपुर, कमलानगर, बक्सेड़ा, सिकंदरा, बिरभानपुर, सहसों में बैठकें कर कृषि विधेयक से किसानों को होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक किया तथा इसके विरोध में संघर्ष का एलान किया। 
इस मौके पर सपा जिलाध्यक्ष योगेश चन्द्र यादव, पूर्वमंत्री हीरामणि पटेल, पूर्व प्रमुख संदीप यादव, रामसुमेर पाल, अनिल यादव, दूधनाथ पटेल, दान बहादुर, हृदयलाल मौर्य, कुलदीप यादव, पप्पू पटेल, जैकरन पटेल, जीतलाल पासी, खिन्नी पासी, संदेश यादव, कबीर पटेल, अमर सिंह, रामअसरे पाल, सुभाष यादव, रामपूजन पटेल आदि मौजूद रहे।

error: Content is protected !!