वाराणसी : क्षतिग्रस्त सड़कों का राज्यमंत्री रविन्द्र ने किया निरीक्षण, गड्ढे देख भड़के

वाराणसी (हि.स.)। बारिश के दिनों में वाराणसी की क्षतिग्रस्त सड़कों को लेकर विपक्षी दलों और सोशल मीडिया में लोगों के निशाने पर आये जन प्रतिनिधि अब सक्रियता दिखाने लगे हैं। सोमवार को उत्तरी विधानसभा के विधायक और प्रदेश के स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्यमन्त्री (स्वतंत्र प्रभार) रविन्द्र जायसवाल ने सर्किट हाउस और आसपास के सड़कों का अफसरों के साथ निरीक्षण कर वास्तविकता को देखा। 
राज्यमंत्री ने सेंट्रल जेल रोड़ सिकरौल, भीम नगर, कुंज विहार, शिवपुर बाजार, अतुलनानंद बाईपास, भोजूबीर सिंधौरा रोड़, सब्जी मंडी भोजूबीर, सरसौली, मीरापुर बसही में स्थलीय निरीक्षण के दौरान सड़कों पर बने गड्ढे को देखा तो भड़क गये। राज्यमंत्री ने पीडब्ल्यू के इंजीनियर सुग्रीव राम समेत अधिकारियों को वहीं फटकार लगाई। 
जायसवाल के अनुसार पीडब्लूडी और नगर निगम के आपसी तालमेल की कमी, सिकरौल में अतिक्रमण का बहाना बनाकर नाली निर्माण नहीं कराकर ठेकेदारों को कार्य में विलम्ब का मौका दिया जा रहा है। जिससे समय के साथ आगणन की धनराशि बढ़ाई जा सके। भोजूबीर सिंधौरा रोड़ पर सब्जी मंडी के निकट आईपीडीएस के द्वारा 8 माह पूर्व कार्य पूर्ण होने पर भी सड़क को नगर निगम के द्वारा बराबर नहीं किया गया। 
उन्होंने कहा कि प्रवासी भारतीय दिवस के दौरान 80 लाख खर्च होने के बाद भी सड़क पर इतने बड़े गड्ढे बन गये हैं। जिसके निर्माण में निम्न गुणवत्ता की सामग्री प्रयोग की जा रही है। राज्यमंत्री ने एडीएम सिटी को सभी की रिपोर्ट तैयार कर शासन को भेजने को कहा। 
बतातें चले, विगत दिनों राज्यमंत्री ने मंडलीय सभागार में कमिश्नर व जिलाधिकारी के साथ बैठक में शहर की खराब सड़कों को तत्काल दुरुस्त करने पर जोर दिया था। मंत्री ने निश्चित समय देकर अफसरों को स्वयं मौके पर चलकर सड़कों की स्थिति जांचने के निर्देश दिया था। जिसके पश्चात जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने शहर उत्तरी विधानसभा क्षेत्र में उपजिलाधिकारी व मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में चार टीमें गठित की थी। 
मंत्री के निरीक्षण के दौरान दिनेश यादव पार्षद, सुनील सोनकर पार्षद, जितेंद्र मिश्रा, अभिषेक मिश्रा आदि भी मौजूद रहे।

error: Content is protected !!