रूपल चौधरी के कांस्य पदक जीतने से मेरठ में खुशी की लहर

मेरठ (हि.स.)। जूनियर वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में मेरठ की बेटी रूपल चौधरी ने कांस्य पदक जीता है। उसके पदक जीतने की खबर मिलते ही मेरठ में खुशी की लहर दौड़ गई। रूपल को इस उपलब्धि पर बधाई देने का सिलसिला जारी है। रूपल के पिता ने भी अपनी बेटी के पदक जीतने पर खुशी जाहिर की।

मेरठ जनपद के रोहटा रोड स्थित जैनपुर गांव में किसान ओमवीर सिंह की बेटी रूपल चौधरी भारत की नई उड़नपरी बनकर उभरी है। कोलंबिया के काली शहर में चल रही अंडर 20 वर्ल्ड जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में 400 मीटर दौड़ में रूपल चौधरी ने कांस्य पदक जीतकर देश का मान बढ़ाया। दुनिया के टॉप एथलीट के बीच दौड़ते हुए रूपल ने अपनी दौड़ 55.85 सेकेंड में पूरी की।

इस दौड़ में ब्रिटेन की येीम मेरी ने 51.50 सेकेंट में दौड़ पूरी करके स्वर्ण पदक और केन्या की दमारिष मतंग ने 51.71 सेकंड के समय के साथ रजत पदक जीता। इस चैंपियनशिप में पदक जीतने वाली रूपल मेरठ की पहली एथलीट है। इस उपलब्धि का पता चलते ही मेरठ के लोगों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी और उसके परिजनों को बधाई देने का सिलसिला शुरू हो गया। रूपल के पिता ओमवीर सिंह और कोच विशाल सक्सेना, अमित सक्सेना को लोग बधाई दे रहे हैं।

पिता ओमवीर सिंह का कहना है कि यह उनके लिए गौरव का पल है और कामना करते हैं कि उनकी बेटी खेल की ऊंचाईयों को छुए। कोच विशाल सक्सेना का कहना है कि रूपल ने पदक जीतकर उनकी कई सालों की मेहनत का फल दे दिया है। वह अंतरराष्ट्रीय पटल पर खूब चमकेगी।

कुलदीप

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!