भारतीय मजदूर संघ ने देशभर के अस्पतालों में नर्सों को किया सम्मानित

नर्स दिवस पर सम्मानित करने के लिए 400 से अधिक जिलों में हुए कार्यक्रम

 – दिल्ली के 32 अस्पतालों में करीब 2500 से अधिक नर्सों का किया गया सम्मान 

पवन कुमार अरविंद
नई दिल्ली (हि.स.)। कोरोना महामारी के खिलाफ युद्ध में दिन-रात जुटीं नर्सों को भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) ने बुधवार को अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस पर सम्मानित किया। दिल्ली के 32 प्रमुख अस्पतालों में 2500 से अधिक नर्स एवं चिकित्सा स्टाफ सम्मानित किए गए। जम्मू-कश्मीर के कठुआ और हिमाचल के ऊना समेत देशभर के 400 से अधिक जिलों में नर्सों को सम्मानित करने के लिए सभी प्रमुख अस्पतालों में कार्यक्रम आयोजित किए गए। 
बीएमएस के राष्ट्रीय महामंत्री विनय कुमार सिन्हा ने पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में 100 से अधिक नर्स और चिकित्सा स्टाफ को साल एवं श्रीफल देकर सम्मानित किया। चंडीगढ़ पीजीआई में 200 से अधिक नर्स एवं चिकित्सा स्टाफ को छाता, सैनिटाइजर, मास्क देकर उनका मान बढ़ाया गया। बीएमएस के राष्ट्रीय मंत्री एवं भारतीय परिवहन मजदूर महासंघ के प्रभारी रवींद्र हिम्ते ने नागपुर के जिला चिकित्सालय में नर्सों को सम्मानित किया। 
बीएमएस उत्तर क्षेत्र के क्षेत्रीय संगठन मंत्री पवन कुमार ने हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि देशभर में नर्सों को सम्मानित करने के लिए 6000 से अधिक स्थानों पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, जम्मू-कश्मीर, केरल, त्रिपुरा, अगरतला, तमिलनाडु, झारखंड समेत सभी प्रदेशों में कार्यक्रम आयोजित किए गए। उन्होंने बताया कि दिल्ली में 32 प्रमुख अस्पतालों में कार्यक्रम आयोजित किए गए। प्रत्येक कार्यक्रम में 40 से 100 तक की संख्या में नर्स एवं चिकित्सा स्टाफ उपस्थित थे।दिल्ली में 2500 से अधिक नर्स एवं चिकित्सा स्टाफ का सम्मान किया गया। शाहदरा के एक कार्यक्रम में रोहताश नगर के विधायक जितेंद्र महाजन और लक्ष्मीनगर के कार्यक्रम में स्थानीय विधायक अभय वर्मा भी उपस्थित थे। 
उन्होंने बताया कि नर्सों के सम्मान का यह कार्यक्रम देशभर में आयोजित किया गया है। हम ये जो आंकड़े बता रहे हैं, वो शाम चार बजे तक के हैं। देश के कई जिलों के अभी आंकड़े नहीं मिले हैं। उन्होंने बताया कि चंडीगढ़ पीजीआई में 200 स्टाफ को सम्मानित किया गया। इसमें नर्स और अन्य चिकित्सा स्टाफ भी शामिल है। हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के जिला चिकित्सालय में 60 से अधिक नर्सों को सम्मानित किया गया। पंजाब के पठानकोट जिले में नर्सों को छाता, सैनिटाइजर और मास्क देकर उनका मान बढ़ाया गया। जम्मू-कश्मीर के अधिकतर जिलों में कार्यक्रम किए गए हैं। कठुआ जिले के जिला अस्पताल में 50 से अधिक नर्सों को सम्मानित किया गया। पवन कुमार ने बताया कि संगठन की जिला इकाइयों ने अपने-अपने स्तर पर यह कार्यक्रम किया। 
बीएमएस से संबद्ध दिल्ली परिवहन मजदूर संघ (डीपीएमएस) के महामंत्री कैलाश चंद मलिक ने कहा कि कोरोना संकट काल में अपनी जान हथेली पर लेकर नर्स और अन्य चिकित्सा स्टाफ जिस तरह से कोरोना के खिलाफ जुटे हुए हैं, इसके मद्देनजर समाज को उनका हासला अफजाई भी करना चाहिए। 

error: Content is protected !!