बनारस रेल इंजन कारखाना में फायर इमरजेंसी से बचाव के लिए सजीव प्रदर्शन

-महाप्रबंधक ने आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण कक्ष का किया उद्घाटन

वाराणसी (हि.स.)। बनारस रेल इंजन कारखाना (बरेका) में फायर इमरजेंसी से निपटने के लिए सोमवार को अपनी तैयारियों पर एक सजीव प्रदर्शन किया गया। आरपीएफ, सिविल डिफेंस, सेंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड, स्काउट्स ऐंड गाइड्स और मेडिकल की टीम ने इस प्रदर्शन में भाग लिया।

04 मार्च से 10 मार्च तक मनाये जा रहे राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह में ‘आपदा से सीखो और सुरक्षित भविष्य की तैयारी करो’ विषयक अभियान में बरेका में प्रशिक्षण सुविधाओं को मजबूत करने के लिए महाप्रबंधक अंजली गोयल ने आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण कक्ष ‘मंथन’ का उद्घाटन भी किया। 
प्रशिक्षण कक्ष कार्यस्थल और आपातकालीन प्रतिक्रिया पर सुरक्षा सावधानियों के साथ कर्मचारियों और पर्यवेक्षकों के प्रशिक्षण के लिए जहां उपयोगी होगा। वहीं इस कमरे का उपयोग उन्हें अग्निशमन और पीपीई के सही उपयोग पर व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए भी किया जाएगा।
किसी भी उद्योग के लिए सुरक्षा बहुत महत्वपूर्ण पहलू है। दुर्घटना मुक्त कार्य वातावरण कर्मचारियों के मनोबल को बढ़ाने के साथ उनकी उत्पादकता भी बढ़ाता है।  सुरक्षा नियमों का पालन करना और दुर्घटनाओं को रोकने के लिए सावधानी बरतना हर कर्मचारी का कर्तव्य है। आग औद्योगिक दुर्घटनाओं का एक प्रमुख कारण है, जिसमें सम्पत्ति और जीवन की हानि होती है। 
आग की रोकथाम की दिशा में एक कदम के रूप में बीएलडब्ल्यू ने हाल ही में बीएलडब्ल्यू अस्पताल, सिनेमा क्लब के लिए यूपी अग्निशमन विभाग से अग्नि सुरक्षा प्रमाणपत्र प्राप्त किया है। अन्य सेवा भवनों के लिए ऐसी एनओसी प्राप्त करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। जो सुनिश्चित करेगा कि हमारे अग्निशमन के उपाय पर्याप्त और उचित काम करने की स्थिति में हों। 
सुरक्षा सप्ताह के दौरान की गई गतिविधियां सभी बीएलडब्ल्यू कर्मचारियों को अपने कार्य को सुरक्षित तरीके से निष्पादित करने के लिए प्रेरित और याद दिलाएंगी और आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार करेंगी।

error: Content is protected !!