प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में महिला विधायकों को नहीं मिला बोलने का मौका

– दर्शक दीर्घा से सामाजिक कार्यकर्ता का मंच पर संबोधन बना चर्चा का विषय

झांसी (हि.स.)। रानी लक्ष्मी बाई इंटर कॉलेज में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में मिशन शक्ति की बात करने वाली भारतीय जनता पार्टी भारतीय जनता पार्टी के मंच पर महिला विधायकों को मंच से बोलने का मौका नहीं दिया गया। जबकि मंच पर बैठे अन्य विधायकों व सांसदों समेत दर्शक दीर्घा में बैठी एक सामाजिक कार्यकर्ता को तक मंच पर बोलने के लिए आमंत्रित किया गया। इस बात की चर्चा प्रबुद्ध लोगों के बीच सुनी गई।

वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई की भूमि झांसी पर गुरुवार को प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन का आयोजन किया गया था। इस आयोजन को संबोधित करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पधारे। मंच पर महानगर के प्रथम नागरिक महापौर रामतीर्थ सिंघल, सदर विधायक रवि शर्मा, बबीना विधायक राजीव सिंह व गरौठा विधायक जवाहर लाल राजपूत समेत सांसद अनुराग शर्मा व केंद्रीय राज्यमंत्री भानु प्रताप वर्मा समेत जिला पंचायत अध्यक्ष पवन गौतम को भी आभार व्यक्त करने का अवसर प्रदान किया गया।

वहीं मंच पर मऊरानीपुर विधानसभा क्षेत्र की अपना दल (एस) की विधायक डॉ रश्मि आर्य व बीजेपी एमएलसी रमा निरंजन भी मौजूद रहीं। लेकिन उन्हें अपनी बात रखने का कोई मौका तक नहीं दिया गया। जबकि इसके इतर दर्शक दीर्घा में बैठी एक सामाजिक कार्यकर्ता को बोलने के लिए मंच पर बुलाया गया। मंच से नारी सशक्तिकरण की बात भी पूरी ताकत के साथ पेश की गई। मुख्यमंत्री ने भी मिशन शक्ति की बात करते हुए वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई को प्रणाम भी किया। लेकिन दोनों महिला विधायकों को बोलने का अवसर ना दिया जाना चर्चा का विषय बना रहा।

महेश

error: Content is protected !!