पूर्व सांसद रमाकांत यादव को मुख्तार गैंग से जान का खतरा, राज्यपाल को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की

आजमगढ़। पूर्व बाहुबली सांसद व समाजवादी पार्टी के नेता रमाकांत यादव खुद की हत्या का भय सताने लगा है। शायद यही कारण है कि बाहुबली रमांकांत यादव ने राज्यपाल को पत्र लिखकर खुद की सुरक्षा की मांग की है। 

राज्यपाल को लिखे पत्र के मुताबिक यह खतरा किसी और को नहीं बल्कि पूर्वांचल के माफिया मुख्तार अंसारी के गुर्गो से बताया गया है। फिलहाल मुख्तार के गुर्गे पूर्व सांसद की हत्या क्यो करना चाह रहे यह तो जांच का विषय है लेकिन पूर्व सांसद के द्वारा राज्यपाल को लिखे इस पत्र के बाद राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गयी है। 

बता दें कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के पहले पूर्व सांसद रमाकांत यादव भाजपा में थे। वर्ष 2019 में पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया तो वे कांग्रेस में शामिल हो गए और भदोही से लोकसभा चुनाव लड़े। 

भाजपा छोड़ने के बाद रमाकांत को मिली वाई श्रेणी सुरक्षा वापस ले ली गयी थी। पाला बदलने में माहिर रमांकात यादव 6 अक्टूबर 2019 को कांग्रेस का दामन छोड़कर पुनः समाजवादी पार्टी में शामिल हो गये। वाई श्रेणी की सुरक्षा जाने के बाद से रमाकांत यादव सुरक्षा वापस पाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे थे कि इसी बीच बाहुबाली रमाकांत ने एक नया हथकंडा अपनाया और 17 सितम्बर को प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को पत्र लिखकर खुद के हत्या की आशंका जताई है।

 हैरत करने वाली बात यह है कि पूर्व सांसद ने जिन लोगों से अपनी जान को खतरा बताया है वह पूर्वाचल के माफिया विधायक मुख्तार अंसारी गिरोह से ताल्लुक रखते हैं। आजमगढ़ के तरवां थाना क्षेत्र के महुआरी गांव में बीते 4 सितम्बर को पुलिस ने मुख्तार के चार गुर्गो को एके-47 के कारतूस व असलहों के साथ मुठभेड़ में गिरफ्तार किया था। पूर्व सांसद ने इन्हीं गुर्गो से अपनी जान को खतरा बताया है। इतना ही नहीं रमाकांत यादव ने राज्यपाल को पत्र लिखकर कहा है कि वे आजमगढ़ से चार बार सांसद और फूलपुर से चार बार विधायक रहे हैं। वर्तमान में उन्हें कोई सरकारी सुरक्षा नहीं दी गयी है। जिसके कारण अपराधी प्रवृत्ति के लोग बराबर उनकी हत्या करने की कोशिश करते हैं। जिनके नाम का उल्लेख करना उचित नहीं है। जिले के ऐसे राजनीतिक लोग जो अपराधियों को संरक्षण देते हैं उनकी वजह से भी खतरा बना रहता है। पूर्व सांसद ने राज्यपाल से सुरक्षा की गुहार की गुहार लगाई है। 

error: Content is protected !!