पुरानी पेंशन स्कीम लागू नहीं हुई तो आन्दोलन करेगा मजदूर संघ

-कर्मचारियों को न्यूनतम पेंशन की गारंटी दे सरकार: अशोक शुक्ल

लखनऊ (हि.स.)। भारतीय मजदूर संघ ने नई पेंशन स्कीम को समाप्त कर पुरानी पेंशन बहाली की मांग फिर से उठाई है। मजदूर संघ ने चेतावनी दी है कि अगर सरकार ने पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल नहीं किया तो मजदूर संघ आन्दोलन करने को बाध्य होगा। सोमवार को नवीन मार्केट स्थित भारतीय मजदूर संघ के कार्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता को बीएमएस के राष्ट्रीय मंत्री अशोक शुक्ल ने संबोधित किया।

अशोक शुक्ला ने कहा कि नई पेंशन स्कीम में न्यूनतम पेंशन की गारंटी नहीं है। जिस समय नई पेंशन स्कीम लागू की गयी भारत सरकार ने सभी कर्मचारियों को यह आश्वासन दिया था कि पुरानी पेंशन स्कीम से कम पेंशन नहीं मिलेगी जबकि परिणाम इसके विपरीत आ रहे हैं। आज तक सरकार ने न्यूनत पेंशन की गारंटी की घोषणा भी नहीं की है। इससे कर्मचारियों में संशय की स्थिति बनी हुई है कि उन्हें सेवानिवृत्ति के बाद कितनी पेंशन मिलेगी। इसलिए कर्मचारी लगातार नई पेंशन स्कीम को समाप्त कर पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करने की मांग करते आ रहे हैं।

बीएमएस के राष्ट्रीय मंत्री अशोक शुक्ल ने बताया कि कर्मचारियों के विरोध को देखते हुए राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखण्ड, पंजाब और हिमाचल प्रदेश की सरकारों ने अपने कर्मचारियों को पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करने की घोषणा कर चुकी हैं। बीएमएस ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से मांग की है कि राज्य कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन स्कीम लागू करें या फिर कर्मचारियों को न्यूनतम पेंशन की गारंटी दी जाय जो कि उनके अंतिम वेतन का 50 प्रतिशत से कम न हो।

बृजनन्दन

error: Content is protected !!