नकली नोट छापने वाले तीन आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

औरैया। एक सप्ताह पहले सदर ब्लॉक परिसर में खड़ी एक कार में रखे गत्ते से हजारों रुपये के नकली नोट बरामदगी के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पकड़े गए आरोपियों के पास से पुलिस ने 58 सौ रुपये की नकली करेंसी बरामद की है। नकली नोटों के साथ गिरफ्तार तीन आरोपियों के संबंध में सीओ सिटी सुरेंद्र नाथ यादव ने प्रेस वार्ता में जानकारी दी।
बताया कि इसमें राजनैतिक रंजिश के चलते वर्तमान प्रधान अखिलेश पांडेय की ब्लॉक में खड़ी कार में गत्ता रखा गया था। बताया कि इस प्रकरण में आरोपी अनूप त्रिपाठी पुत्र जगदीश त्रिवेदी निवासी गांव क्योंटरा, नागेंद्र सिंह पुत्र करन सिंह निवासी गांव क्योंटरा व जितेंद्र कुमार उर्फ टिलटिल पुत्र बालमुकुंद निवासी गांव भदेख थाना कुठौंद जिला जालौन ने विमल पुत्र छुन्नी त्रिवेदी निवासी क्योंटरा व अंशू पुत्र भगवानदान निवासी गांव भदेख के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया था। इसमें पुलिस ने घटना वाले दिन मौके से दो लोगों को हिरासत में लिया था। जिनके खिलाफ कोई ठोस सबूत न होने से उन्हें छोड़ दिया गया था। बताया कि मामले की जांच के दौरान उक्त लोगों के नाम सामने आए। जिसमें पुलिस ने अनूप, नागेंद्र व जितेंद्र को भाऊपुर गांव के पास से गिरफ्तार कर लिया। 
सीओ ने बताया कि घटना वाले दिन कार से बरामद किए गए गत्ते में मास्क व सैनिटाइजर के नीचे नकली नोटों को पैकेट में टेप लगाकर रखे गए थे। बताया कि इस काम में जितेंद्र कुमार ने प्रधान की कार में गत्ता रखा था। पकड़े गए लोगों के पास से पुलिस ने नकली 58 सौ रुपये बरामद किए हैं। सीओ ने बताया कि इस घटना में फरार हुए दोनों आरोपियों अंशू व विमल की पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है। कहा कि जल्द ही दोनों पुलिस के हाथ आएंगे। तभी इस बात का खुलासा हो सकेगा कि नकली नोट कहां से लाए गए हैं।

error: Content is protected !!