दारोगा भर्ती परीक्षा में गड़बड़ी का आरोप, लोकायुक्त से की शिकायत

लखनऊ (हि.स.)। पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी डॉ. नूतन ठाकुर ने शुक्रवार को दारोगा भर्ती परीक्षा 2020-21 में हुईं गड़बड़ियों के संबंध में जांच के लिए लोकायुक्त जस्टिस संजय मिश्रा से शिकायत की।

शिकायत के अनुसार इस परीक्षा के अभ्यर्थियों की ओर से दिए गए तथ्यों से प्रथम दृष्ट्या इस भर्ती में भारी गड़बड़ी की आशंका जान पड़ती है। इसमें सबसे पहली बात उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती बोर्ड द्वारा परीक्षा एजेंसी के रूप में एनएसईआईटी के चयन का है। इस कंपनी के कई राज्यों में ब्लैकलिस्टेड होने के बाद भी उसे यह काम दिए जाने के आरोप हैं। इतना ही नहीं वर्ष 2017 में स्वयं उत्तर प्रदेश में दरोगा भर्ती परीक्षा में इस कंपनी को काम दिया गया था किंतु परीक्षा से पहले ही पेपर लीक हो जाने के कारण परीक्षा स्थगित करनी पड़ी थी। इस कंपनी का चयन मामले को संदिग्ध बनाता है।

इसके साथ ही जिस प्रकार परीक्षा के दौरान एसटीएफ ने गोरखपुर, अलीगढ़ सहित तमाम स्थानों पर एनएसईआईटी को आरोपित करते हुए कई एफआईआर दर्ज कराये वह भी इस मामले को गंभीर बनाता है। बोर्ड एवं एनएसईआईटी द्वारा परीक्षा के क्रम में अपने मास्टर कंप्यूटर में प्राप्त तमाम अनियमितताओं तथा कैंडिडेट रेस्पोंस लॉग (सीआरएस) की सूचना दरकिनार की गयी, उससे मामला प्रथमदृष्टया गंभीर हो जाता है।

पीईटी परीक्षा में बहुत कम नंबर लाने वाले कई अभ्यर्थियों को इस परीक्षा में आश्चर्यजनक रूप में भारी नंबर मिले। इस मामले में लखनऊ सहित तमाम स्थानों पर हर रोज काफी संख्या में फर्जी अभ्यर्थी पकड़े जा रहे हैं। एफआईआर दर्ज हो रही हैं, जो प्रक्रिया पर सवालिया निशान लगाते हैं। नूतन और अमिताभ ने इन तमाम तथ्यों के मद्देनज़र मामले की जांच कर उचित कार्रवाई किये जाने की प्रार्थना की है।

दीपक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!