तीन वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से केमिस्ट्री का नोबेल

इंटरनेशनल डेस्क
स्टॉकहोम। केमिस्ट्री के क्षेत्र में नोबेल फाउंडेशन ने साल 2019 के लिए बुधवार को नोबेल पुरस्कार के नामों की घोषणा की। स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में इसके लिए जॉन बी. गुडइनफ, एम. स्टैनली विटिंघम और अकीरा योशिनो को संयुक्त रूप से रसायन विज्ञान में विजेता के तौर पर नोबेल पुरस्कार दिया गया है। इन्हें लिथियम-आयन बैटरी का विकास करने के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया है।
नोबेल समिति ने कहा, ‘लिथियम आयन बैटरी ने हमारे जीवन में क्रांति ला दी है और इसका उपयोग मोबाइल फोन से लेकर लैपटॉप और इलेक्ट्रिक वाहनों तक हर चीज में किया जाता है।’ समिति द्वारा कहा गया कि अपने काम के माध्यम से, इस वर्ष के रसायन विज्ञान लॉरेट्स ने एक वायरलेस, जीवाश्म ईंधन-मुक्त समाज की नींव रखी है। बता दें कि विजेताओं की घोषणा स्टॉकहोम में बुधवार को रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज के महासचिव गोरण के हैंसन ने की।
पुरस्कार के तहत 9 लाख 18 हजार अमेरिकी डॉलर और एक स्वर्ण पदक साथ में एक डिप्लोमा 10 दिसंबर को प्रदान किया जाएगा। पुरस्कार संस्थापक अल्फ्रेड नोबेल एक स्वीडिश उद्योगपति थे, जिन्होंने डायनामाइट का आविष्कार किया था। उन्होंने फैसला किया था कि स्टॉकहोम में भौतिकी, रसायन विज्ञान, चिकित्सा और साहित्य पुरस्कार प्रदान किए जाने चाहिए और ओस्लो में शांति पुरस्कार।


Hindustan Daily News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।