ट्रिपल आईटी में रोबोट विकसित, एक सामान दूसरी जगह ले जाने में सक्षम

–“मानव रोबोट इंटरेक्शन” पर दो दिवसीय कार्यशाला 6 अगस्त से

प्रयागराज (हि.स.)। भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, प्रयागराज के सेंटर ऑफ इंटेलिजेंट रोबोटिक्स की टीम एक ऐसा रोबोट विकसित कर रही है जो आदेश पर वस्तुओं को उठाकर गोदाम के कार्य में एक सामान को दूसरे जगह ले जाने में सक्षम होगा।

सेंटर ऑफ इंटेलिजेंट रोबोटिक्स के आईटी विशेषज्ञों द्वारा एक गोदाम के वातावरण में मानव रोबोट इंटरेक्शन प्रौद्योगिकियों की दिशा में काम कर रहा है। ट्रिपल आईटी द्वारा विकसित इस सॉफ्टवेयर रोबोट को रैक से वस्तु को उठाने और गोदाम में वांछित स्थान पर रखने में सक्षम बनाता है। रास्ते में बाधाओं से बचते हुए रोबोट को गोदाम में वांछित स्थान तक पहुंचाने के लिए एक सॉफ्टवेयर विकसित किया है। इस रोबोट पर पूरी टीम पिछले एक वर्ष से अधिक समय में कार्य कर रही है।

कोविड लॉकडाउन के चलते ई-कॉमर्स कम्पनियों के जरिए सामान ऑर्डर करने वालों की संख्या में काफी तेजी से इजाफा हुआ है। इन सामानों को एक गोदाम में रखा जाता है, जहां से इन्हें उठाकर डिलीवर करने की जरूरत होती है। रोबोटिक्स वह तकनीक है जो मानव चयन त्रुटियों को कम करते हुए वस्तुओं को वितरित करने की दक्षता में वृद्धि कर सकती है। इस प्रोजेक्ट का नेतृत्व संस्थान के प्रो. जी.सी नंदी एवं अन्य सदस्यों प्रो. वृजेंद्र सिंह, डॉ. राहुल काला, वंदना कुशवाहा, हैदर जाफरी, प्रिया शुक्ला कर रहे हैं।

प्रो. नंदी ने बताया कि मनुष्य जरूरत पड़ने पर रोबोट का मार्गदर्शन करने में सक्षम होगा, क्योंकि रोबोट उनके मुखर आदेशों को समझने में सक्षम होगा। उन्होंने कहा कि उनकी टीम भविष्य के लिए तैयार रोबोटिक सिस्टम के साथ बढ़ी हुई दक्षता के लिए संचालन को स्वायत्त रूप से प्रबंधित करने के लिए एक सॉफ्टवेयर भी बना रही है। कहा कि इसी संदर्भ में ट्रिपल आईटी के सेंटर ऑफ इंटेलिजेंट रोबोटिक्स द्वारा “मानव रोबोट इंटरेक्शन” विषय पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन 6 अगस्त से झलवा परिसर में आयोजित कर रहा है। यह कार्यशाला छात्रों को संस्थान में आने और इस क्षेत्र में काम करने वाले प्रोफेसरों की एक विशिष्ट सूची के साथ बातचीत करने का एक अनूठा अवसर प्रदान करेगा। वे रोबोट भी देख सकेंगे और तकनीक के बारे में जान सकेंगे।

कार्यशाला का उद्घाटन 6 अगस्त को संस्थान के कार्यवाहक निदेशक प्रो आर एस वर्मा करेंगे। विशिष्ट अतिथियों में प्रो. सुबीर कुमार साहा, रोबोट के लिए इनोवेशन हब फाउंडेशन के निदेशक और आईआईटी दिल्ली के प्रोफेसर, आशुतोष शर्मा, कार्यकारी निदेशक, आईएचएफसी एवं प्रो. विजयश्री तिवारी होंगे।

डॉ. पंकज मिश्र ने बताया कि सेंटर ऑफ इंटेलिजेंट रोबोटिक्स भारत में अग्रणी रोबोटिक्स अनुसंधान केंद्रों में से एक है, जो ट्रिपल आईटी प्रयागराज में स्थित है, जिसका उद्घाटन 1 जनवरी, 2020 को किया गया था। दो साल में केंद्र ने पहले ही अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों में परियोजनाओं के संचालन और विभिन्न निकायों के माध्यम से वित्त पोषित करने सहित महत्वपूर्ण सफलता हासिल की है। केंद्र को आईआईटी दिल्ली में आई-हब फाउंडेशन फॉर कोबोटिक्स से एक वित्त पोषित भव्य परियोजना प्राप्त हुई। आई-हब फाउंडेशन फॉर कोबोटिक्स, भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा स्थापित आईआईटी दिल्ली का एक प्रौद्योगिकी नवाचार केंद्र है।

विद्या कान्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!