घरेलू हिंसा के खिलाफ आधी आबादी ने पदयात्रा निकाली, प्रदर्शन किया

वाराणसी (हि.स.) । घरेलू और यौन हिंसा के खिलाफ गुरूवार को आदर्श ग्राम नागेपुर में महिलाओं ने पदयात्रा निकाल जमकर प्रदर्शन किया। महिलाओं और लड़कियों पर लगातार हो रही हिंसा को लेकर आधी आबादी ने चुप्पी तोड़ इसके खिलाफ लड़ने का संकल्प भी लिया।

दो ट्रस्टों के संयुक्त तत्वावधान में शुरू महिला हिंसा विरोधी पखवाड़ा में नागेपुर और आसपास के गांवों से स्वयंसेवी संगठनों से जुड़ी महिलाएं लोक समिति आश्रम में जुटी। वहां से रैली निकालकर महिला हिंसा विरोधी अभियान का शुभारंभ किया। रैली में शामिल महिलाओं और लड़कियों ने चुप नहीं रहना है, हिंसा नहीं सहना है, बाल विवाह बंद करो, महिला हिंसा बन्द करो, दहेज प्रथा पर रोक लगाओ, यौन हिंसा पर रोक लगाओ आदि नारे लगाकर गांव के अम्बेडकर पार्क पहुंचकर प्रदर्शन किया। यहां प्रेरणा कला मंच के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से महिलाओं के साथ हो रहे भेदभाव और अन्याय के प्रति जागरूक किया।

समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर ने बताया कि महिला हिंसा के खिलाफ बीस दिवसीय पखवाड़ा कार्यक्रम चलाया जायेगा। जिसके तहत आराजी लाईन और सेवापुरी ब्लाक के करीब 50 गांवों में महिला हिंसा, यौन उत्पीड़न व बाल विवाह शराबबंदी पर बैठक संगोष्ठी, रैली, हस्ताक्षर अभियान, नुक्कड़ नाटक व जनसभा आदि के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जायेगा। कार्यक्रम का समापन 16 दिसम्बर को तहसील राजातालाब में जन आक्रोश रैली के साथ किया जायेगा, जहां राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी राजातालाब के माध्यम से दिया जायेगा।

error: Content is protected !!