कड़े सुरक्षा प्रबंध के बीच दुर्गा प्रतिमाओं का हुआ विसर्जन

संवाददाता
कर्नलगंज, गोण्डा। स्थानीय तहसील के अन्तर्गत स्थापित की गयीं दुर्गा प्रतिमाओं को बुधवार को गाजे-बाजे के साथ कटरा घाट पर सरयू नदी में विसर्जित कर दिया गया। इस दौरान सम्पूर्ण क्षेत्र में शांति बनी रही। कहीं से किसी विशेष अप्रिय घटना की खबर नहीं है।
यह जानकारी देते हुए अपर जिलाधिकारी रत्नाकर मिश्र ने बताया कि कौड़िया बाजार, कटरा बाजार, कर्नलगंज व परसपुर थाना क्षेत्रों में स्थापित दुर्गा प्रतिमाएं सकुशल विसर्जित कर दी गईं। इस मौके पर कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए थे। कर्नलगंज से हमारे संवाददाता जीके श्रीवास्तव ने बताया कि कस्बे में स्थापित की गई चार दुर्गा प्रतिमाओं व मां वैष्णव देवी की गुफा की प्रतिमा की बुधवार को नगर के मुख्य मार्गो से होकर शोभा यात्रा निकाली गयी। बैंड बाजों की धुनों पर नाचते गाते श्रद्धालु पूरे नगर में मां के जयकारे लगाते रहे। शोभा यात्रा में शामिल लोगों के लिए तमाम श्रद्धालुओं द्वारा अपने आवासों या दुकानों के सामने प्रसाद वितरित करने की व्यवस्था की गयी थी। शोभायात्रा के साथ चल रहे वाहनों से भी लगातार प्रसाद का वितरण किया जाता रहा। सायं लखनऊ मार्ग पर स्थित संतोषी माता मंदिर पर प्रतिमाओं की आरती करने के पश्चात प्रतिमाओं को कटरा घाट पर सरयू नदी में विसर्जित कर दिया गया। नगर सहित आसपास के अन्य तमाम गांवों की प्रतिमाओं का विसर्जन भी बुधवार को किया गया जबकि कुछ अन्य स्थानों की प्रतिमाओं का विसर्जन मंगलवार की शाम को ही कर दिया गया था। शोभा यात्रा में पूर्व नपाप अध्यक्ष रामजी लाल मोदनवाल, कन्हैया लाल वर्मा, शिव कुमार बाथम, धर्मेन्द्र रस्तोगी, संजय यज्ञसेनी, मोहित पाण्डेय, अशोक कुमार सिंहनिया, शिवा भट्ट, डॉ गिरधर गोपाल वैश्य, सरदार जोगिंदर सिंह जानी, राजीव मोदनवाल, राधामोहन उर्फ छोटे, ज्ञान शुक्ल, संतोष पाण्डेय, डॉ वीरेन्द्र कुमार गोस्वामी, कृष्ण गोपाल वैश्य, अरुण कुमार वैश्य आदि सहित भारी संख्या में लोग मौजूद रहे। सुरक्षा व्यवस्था के लिए पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया गया था।


Hindustan Daily News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।