कोरोना काल में हल्दी दूध पीने के पांच बेजोड़ फायदे

हेल्थ डेस्क

नई दिल्ली। दुनियाभर में हर साल एक जून को विश्व दुग्ध दिवस यानी वर्ल्ड मिल्क डे मनाया जाता है। इस मौके पर कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। जिनका मकसद लोगों को इसका महत्व बताकर इसे डाइट में खासतौर से शामिल करना होता है। हालांकि, कोरोना महामारी के चलते अब ये कार्यक्रम सोशल मीडिया के ज़रिए किए जा रहे हैं। दूध सदियों से हमारी डाइट का अहम हिस्सा रहा है। डॉक्टर्स भी इसे डाइट में शामिल करने की सलाह देते हैं। खासतौर पर कोरोना वायरस महामारी के समय हल्दी वाला दूध पीने की सलाह प्रोटोकॉल में शामिल थी। जनर्ल ऑफ विरोलॉजी ने एक शोध में पाया कि हल्दी में शक्तिशाली एंटीवायरल गुण होते हैं। हल्दी में करक्यूमिन नाम का एक प्राकृतिक कंपाउंड होता है, जो वायरल इंफेक्शन में फायदेमंद साबित हो सकता है। वहीं, दूध भी पोषण से भरपूर होता, जो मनुष्य के शरीर को मज़बूती देता है। कोविड पॉज़ीटिव होने पर दवाइयों के साथ कच्ची हल्दी वाला दूध पीने से शरीर में एनर्जी बनी रहती है। यही वजह है कि डॉक्टर्स भी लोगों को हल्दी वाले दूध का सेवन करने की सलाह देते हैं। क्या आप जानते हैं कि रात को सोने से पहले एक गिलास हल्दी वाला दूध पीने से आपकी सेहत तो अच्छी रहेगी ही बल्कि कई बीमारियों से भी आप दूर रहेंगे। आइए जानें कि हल्दी दूध के फायदे क्या हैं।

सर्दी-खांसी में फायदेमंद

हल्दी बलगम के उत्पादन को बढ़ाती है, जो स्वाभाविक रूप से आपके श्वसन पथ को बंद करने वाले रोगाणुओं को बाहर निकालती है। हल्दी के एंटीवायरल और जीवाणुरोधी गुण जहां संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकते हैं, वहीं इसके एंटी-इंफ्लामेट्री गुण खांसी और सर्दी के लक्षणों से राहत दिलाने में मदद करते हैं। इस बीमारी की चपेट में आने वाले बच्चे को पेट दर्द, उल्टी, दस्त भी हो सकता है।

हड्डियों को बनाता है मज़बूत

हल्दी में मौजूद करक्यूमिन और दूध में मौजूद कैल्शियम दोनों मिलकर हड्डियों को मज़बूत बनाते हैं, इसीलिए किसी भी तरह की बोन डैमेज या फ्रैक्चर होने पर इसे खास तौर पर पीने की सलाह दी जाती है।

आएगी अच्छी नींद

हल्दी में अमिनो एसिड्स भी मौजूद होते हैं, जो अच्छी नींद में मदद करते हैं। अगर रात में आपके साथ नींद न पूरी होने की समस्या होती है, तो सोने से पहले कच्ची हल्दी वाला दूध ज़रूर पी लें।

ब्लड फ्लो को बढ़ाता है

कई बार मोच या हल्की चोट के दर्द से शरीर का ब्लड सर्कुलेशन धीमा हो जाता है, ऐसे में हल्दी वाला दूध ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने में मददगार साबित होता है। यही वजह है कि चोट लगने पर हल्दी वाला दूध पिलाया जाता है, ताकि दर्द में आराम मिल सके।

वज़न करने में मददगार

ऐसा माना जाता है कि हल्दी दूध में मौजूद कैल्शियम और दूसरे मिनरल्स शरीर में मौजूद वसा को कम करते हैं।

error: Content is protected !!