कानपुर: सपा विधायक इरफान का करीबी बिल्डर अज्जन गिरफ्तार

कानपुर (हि.स.)। सपा विधायक इरफान सोलंकी के करीबी बिल्डरों में चर्चित एजाज उर्फ अज्जन को पुलिस ने गिरफ्तार किया। सोमवार को उसे अदालत में पेश करने के बाद जेल भेजेगी। जाजमऊ थाने में दर्ज विधवा की जमीन पर कब्जा कराने की कोशिश एवं आगजनी की जांच के दौरान एजाज का नाम चर्चा में आया है।

जाजमऊ थाने में बीते साल आठ नवंबर को दर्ज मुकदमे की जांच निरीक्षक जाजमऊ अशोक कुमार दुबे कर रहे हैं। निरीक्षक जाजमऊ के साथ निरीक्षक कर्नलगंज रत्नेश कुमार सिंह और निरीक्षक कोहना सुधीर सिंह कुशवाहा की संयुक्त टीम ने रविवार को तिलक नगर स्थित एजाज के आवास पर पहुंची। पुलिस ने एजाज से करीब तीन घंटे तक घर पर पूछताछ की। इसके बाद निरीक्षक जाजमऊ एजाज को अपनी जीप में बैठाकर ले गए। देर शाम तक एजाज को लेकर चर्चाएं होती रहीं।

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने सोमवार को बताया कि रविवार रात एजाज उर्फ अज्जन की गिरफ्तारी हुई है। एजाज के खिलाफ आगजनी कांड में शामिल होने के पर्याप्त सबूत हैं। अब तक गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में एजाज का नाम प्रकाश में आया है। एजाज मूलरूप से फतेहपुर का रहने वाला है और वहां की कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर भी है। इसके खिलाफ पांच मुकदमे दर्ज हैं। एजाज सपा विधायक इरफान सोलंकी, उनके भाई रिजवान सोलंकी, शौकत पहलवान, इजराइल आटे वाला, शरीफ आदि के साथ मिलकर संगठित गिरोह संचालित कर रहा था।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक अज्जन का भाई वहां की फतेहरपुर नगर निकाय का चेयरमैन रहा है। करीब दो वर्ष पूर्व एजाज का भाई उस समय चर्चा में आया था, जब उसने एक भाजपा नेता के गनर के साथ अभद्रता की थी। तत्कालीन एडीजी प्रयागराज प्रेम प्रकाश ने एजाज के भाई पर गैंगस्टर तामील कराई थी। एजाज की जाजमऊ के आगे कई जमीनें हैं। एजाज सपा विधायक के भाई रिजवान के साथ मिलकर प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता है। एजाज का बेबीज कंपाउंड में भी एक घर है।

नई सड़क हिंसा मामले में एजाज के नाम की थी चर्चा

विधायक इरफान सोलंकी के करीबी एजाज बिल्डर का नाम नई सड़क हिंसा मामले में भी सामने आया था। हालांकि पुलिस ने पूछताछ के बाद कोई सबूत न मिलने की वजह से इसे रिहा कर दिया था।

राम बहादुर

error: Content is protected !!