एसपी ने दिया 622 पुलिस कर्मियों को व्यावहारिक प्रशिक्षण

पुलिस की नौकरी में सफल रहने के बताए टिप्स

जानकी शरण द्विवेदी
गोण्डा। बलरामपुर के पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा द्वारा रिजर्व पुलिस लाइन में जनपद के समस्त थानों पर नियुक्त कुल 309 रिक्रूट आरक्षी, रिजर्व पुलिस लाइन में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे पीएससी के कुल 200 रिक्रूट्स तथा विभिन्न थानों पर संचालित यूपी 112 की चार पहिया पीआरबी के कर्मियों सहित कुल 622 पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया। एसपी ने पुलिस कर्मियों को बताया कि घटना या दुर्घटना होने के पश्चात घटना स्थल पर पहुंचकर सबसे पहले साक्ष्यों को सुरक्षित करने हेतु ’कार्बन तथा येलो टेप’ का प्रयोग करना चाहिए। उन्होंने सभी को इसक बारे में विस्तार से व्यावहारिक प्रशिक्षण दिया।
एसपी ने घटनास्थल पर ’साक्ष्यों को इंगित करने हेतु झंडी’ का उपयोग करने के संबंध में भी बताया। ’अग्निशमन यंत्र’ के संबंध में विस्तार से बताते हुए यंत्र उपयोग करके आग पर काबू पाने के संबंध में भी प्रशिक्षण दिया गया। यूपी 112 के पीआरवी कर्मियों को ’लाइट एंड साउंड प्रोटोकॉल’ के संबंध में विस्तार से बताते हुए निर्देश दिया कि जब भी पीआरवी एक स्थान से दूसरे स्थान तक जाए तो निर्धारित हूटर साउंड तथा लाइट का प्रयोग करते हुए ही जाए। इससे अपराधी किस्म के लोगों में भय का माहौल बना रहता है तथा पुलिस के मुवमेंट का पता आम लोगों को चलता रहता है। उन्होंने उत्तर प्रदेश पुलिस की महत्वाकांक्षी योजना ’बीट पुलिसिंग’ के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। एसपी ने उपस्थित पुलिस कर्मियों को बीट पुस्तिका को अद्यतन रखने तथा अपराधी किस्म के लोगों व उनके मूवमेन्ट के बारे में जानकारी रखने के लिए कहा। एसपी ने कहा कि गांव में तैनात ’ग्राम प्रहरियों’ के साथ उचित तालमेल रखते हुए लाभप्रद सूचनाओं से विभाग को अवगत कराते रहें। उन्होंने गंभीर अपराधों के दृष्टिगत ’बीट सूचना’ लिखवाने हेतु भी महत्वपूर्ण निर्देश दिए। एसपी ने कहा कि जनपद में चलाई जा रही मुखबिर रोजगार योजना के संबंध में ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक करें जिससे अपराध एवं अपराधियों के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त की जा सके। इस दौरान क्षेत्राधिकारी नगर राधा रमन सिंह, प्रतिसार निरीक्षक नंद लाल यादव, पीआरओ कुलदीप त्रिपाठी समेत अन्य पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *