उजाला योजना: उत्तर प्रदेश में ढाई करोड़ से अधिक बांटे गये एलईडी बल्ब

लखनऊ। उजाला योजना के तहत उत्तर प्रदेश में अब तक ढाई करोड़ से भी अधिक बल्व बांटे गये हैं। इससे एक साल के अंदर ही 3385 मिलियन यूनिट बिजली की बचत हुई है। इसके साथ ही 2.74 मिलियन टन कार्बन उत्सर्जन घटा है। 
प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि केंद्र सरकार की उजाला योजना से प्रदेश में काफी बिजली की बचत हो गयी। आज स्थिति यह है कि पीक आवर्स में 678 मेगावाट बिजली की मांग घटी है। बिजली के इस बचत से प्रदेश में 1354 करोड़ रुपये की बचत हो रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस योजना के तहत  2 करोड़ 60 लाख 71 हजार एलईडी बल्ब बांटे गये हैं जिससे प्रदूषण का स्तर कम करने में भी काफी सफलता मिली है। प्रदेश में 2.74 मिलियन टन कार्बन का उत्सर्जन घटा है। यह एक बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है। इससे आमजन द्वारा बिजली खपत में कमी आने के साथ ही उनके बिजली बिल में भी काफी कमी आयी है।
उजाला योजना भारत सरकार की एक योजना है। यह योजना एक मई 2015 को शुरू की गयी थी। इसके अंतर्गत भारत कम मूल्य पर एलईडी बल्ब दिये जाते हैं, जिससे बिजली की बचत की जा सके। प्रदेश सरकार भी इसके प्रति लोगों को जागरूक कर रही है। इसी का परिणाम है कि इस समय लोग इस योजना का खूब लाभ उठा रहे हैं। इससे काफी बिजली बचत के साथ ही कार्बन उत्सर्जन में भी कमी आयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *