आसमान से गिरी आफत, 20 की गई जान

सैकड़ों जानवरों की मौत, तीन दर्जन से अधिक घायल

इंटरनेशनल डेस्क
इस्लामाबाद। पाकिस्तान पर मौसमी बेरुखी की तगड़ी मार पड़ी है। देश के सिंध प्रांत (च्ंापेजंदश्े ैपदकी चतवअपदबम) के ग्रामीण इलाकों में भारी बारिश के बाद बिजली गिरने की घटनाओं में 20 लोगों की मौत हो गई है जबकि करीब 40 लोग घायल हो गए हैं। यही नहीं, शुक्रवार को आई इस आसमानी आफत की चपेट में आने से सैकड़ों पशुओं की भी मौत हो गई है।
पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, सिंध के थारपारकर जिले के मीठी, छेछी और राम सिंह सोढो गांव में बुधवार देर रात बड़े पैमाने पर बारिश शुरू हुई जिसके बाद बिजली गिरने की घटनाएं हुईं। यह सिलसिला गुरुवार को भी जारी रहा। इन घटनाओं में 10 महिलाओं समेत 20 लोगों की मौत हो गई। इन हादसों में सैकड़ों पशुओं की भी मौत हुई है। बिजली गिरने की घटनाओं में कम से कम 30 लोग घायल हुए हैं जिन्हें विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराए गए हैं। आपदा राहत कार्य में जुटे अधिकारियों ने बताया है कि घटना में मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। बता दें कि इस साल जुलाई में पीओके में मूसलधार बारिश और उसके बाद आई बाढ़ से नीलम घाटी में बड़ी संख्या में मकान और मस्जिदें ध्वस्त हो गई थीं जिसमें कम से कम 28 लोगों की मौत हो गई थी।
अभी हाल ही में पड़ोसी बांग्लादेश में भी तूफान बुलबुल ने तबाही मचाई थी जिसमें कम से कम 22 लोगों की मौत हो गई थी। यही नहीं चक्रवात से होने वाली तबाही की आशंका को देखते हुए निचले इलाकों में रह रहे 21 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया था। पीटीआइ की रिपोर्ट में बताया गया था कि चक्रवात बुलबुल के कारण पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों को 15,000 करोड़ रुपये से लेकर 19,000 करोड़ रुपये तक का नुकसान हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat