आईपीएस अफसर मणिलाल की तत्काल गिरफ्तारी की मांग

लखनऊ (हि.स.)। एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने निलम्बित पूर्व पुलिस अधीक्षक महोबा मणिलाल पाटीदार तथा अन्य आरोपित पुलिस अफसरों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजे अपने पत्र में नूतन ने कहा कि एसआईटी जांच से यह स्पष्ट हो गया है कि इन्द्रकांत त्रिपाठी आरोपित पुलिस अफसरों द्वारा लगातार किये जा रहे जबरदस्त उत्पीड़न तथा धन-उगाही के दवाब से मानसिक रूप से बेहद परेशान थे तथा उन्होंने इसी मानसिक स्थिति में अपनी गोली से आत्महत्या की थी।
नूतन ने कहा कि एसआईटी द्वारा सामने लाये गए ये समस्त तथ्य धारा 306 आईपीसी में आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने का अपराध हैं, जिसके लिए 10 वर्ष तक की सजा है। इन्द्रकांत के भाई रविकांत त्रिपाठी द्वारा लिखाये एफआईआर में आरोपित पुलिस वालों के खिलाफ धारा 387 आईपीसी (सजा 7 वर्ष) तथा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7 (सजा 3 से 7 वर्ष) एवं धारा 13 (सजा  4 से 10 वर्ष) के अपराध बनते हैं, जिसके लिए पर्याप्त साक्ष्य आ चुके हैं। इसलिए उन्होंने 7 वर्ष से अधिक सजा का अपराध होने के कारण श्री पाटीदार सहित सभी आरोपित पुलिस अफसरों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की।
उन्होंने रविकांत त्रिपाठी द्वारा परिवार की सुरक्षा व निष्पक्ष विवेचना हेतु महोबा के एडिशनल एसपी वीरेंद्र कुमार को तत्काल हटाने की मांग का भी समर्थन किया।

error: Content is protected !!